Wednesday , October 23 2019 [ 4:26 PM ]
Breaking News
Home / अंतरराष्ट्रीय / हमने देश में सिंगल यूज प्लास्टिक के खिलाफ अभियान चलाया, जिसे विश्व में जागरूकता फैलेगी-UNजलवायु परिवर्तन सम्मेलन में मोदी
हमने देश में सिंगल यूज प्लास्टिक के खिलाफ अभियान चलाया, जिसे विश्व में जागरूकता फैलेगी-UNजलवायु परिवर्तन सम्मेलन में मोदी Capture 12 393x330

हमने देश में सिंगल यूज प्लास्टिक के खिलाफ अभियान चलाया, जिसे विश्व में जागरूकता फैलेगी-UNजलवायु परिवर्तन सम्मेलन में मोदी

न्यूयॉर्क: 
पीएम मोदी ने कहा, ‘हम परिवहन क्षेत्र में ई मोबिलिटी को प्रोत्साहन दे रहे हैं। हम पेट्रोल और डीजल में बड़ी मात्रा में बॉयो फ्यूल की बढ़ोत्तरी कर रहे हैं। हमने 150 मिलियन परिवारों को क्लीन कुकिंग गैस दिए हैं। हमने, रेन हार्विंटिंग, जल संरक्षण के लिए मिशन जल जीवन शुरू किया है और अगले कुछ वर्षों में इस पर लगभग 50 बिलियन डॉलर खर्च करने की हमारी योजना है। 80 देश हमारे सौलर गठबंधन की योजना के साथ जुड़ चुके हैं।’

हमने देश में सिंगल यूज प्लास्टिक के खिलाफ अभियान चलाया, जिसे विश्व में जागरूकता फैलेगी-UNजलवायु परिवर्तन सम्मेलन में मोदी Capture 12

 टेक्सास के ह्यूस्टन में ऐतिहासिक कार्यक्रम ‘हाउडी मोदी’ में शिरकत करने के बाद प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जलवायु परिवर्तन सम्मेलन को संबोधित किया। इस दौरान उन्होंने कहा कि हम एक नई सोच के साथ आए हैं और अब बात करने का समय नहीं है बल्कि कार्रवाई करने का समय है। उन्होंने कहा, ‘भारत व्यवहारिक सोच के साथ यहां आया है, भारत ने सिंगल यूज प्लास्टिक के उपयोग को रोकने की दिशा में कदम उठाने शुरू कर दिए हैं।’

सिंगल यूज प्लास्टिक बैन का जिक्र करते हुए पीएम मोदी ने कहा,  ‘इस साल भारत के स्वतंत्रा दिवस पर हमने सिंगल यूज प्लास्टिक के लिए जन आंदोलन का आह्वान किया है। मैं आशा करता हूं कि इससे वैश्विक स्तर पर सिंगल यूज प्लास्टिक के खिलाफ जागरूकता और बढ़ेगी। मुझे आपको बताते हुए प्रसन्नता है कि कल हम भारत द्वारा लगाए गए सौलर पैनल का उद्घाटन करेंगे। बात करने का समय अब बीत चुका है। विश्व को अब एक्शन की जरूरत है।’

प्रधानमंत्री ने अक्षय ऊर्जा पर अपनी सरकार की के कार्यों के बारे में विस्तार से जानकारी देने के अलावा वैश्विक जलवायु कार्यवाही प्रयासों में भारत की महत्वपूर्ण भूमिका तथा योगदान को रेखांकित किया। मोदी इस सम्मेलन के उद्घाटन समारोह के शुरुआती वक्ताओं में शामिल रहे। यह इस मायने में महत्वपूर्ण है कि केवल उन्हीं राष्ट्र प्रमुखों, सरकार और मंत्रियों को ही सम्मेलन में बोलने का मौका मिलता है जिन्हें जलवायु कार्यवाही को लेकर कोई ‘सकारात्मक घटनाक्रम’ की घोषणा करनी होती है।

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंटोनियो गुटेरेस ने पिछले सप्ताह पत्रकारों के एक चुनिंदा समूह से बात करते हुए कहा, ‘क्लाइमेट एक्शन समिट में केवल वही देशों के प्रमुख और गठबंधन के सदस्य बोलेंगे जो “सकारात्मक कदम के साथ आए हैं। यह एक तरह का टिकट है। आप तभी बोल सकते हैं जब आप कुछ सकारात्मक घोषित करने आए हों।’

इससे पहले, संयुक्त राष्ट्र में भारत के स्थायी प्रतिनिधि सैयद अकबरुद्दीन ने कहा कि भारत का जलवायु कार्रवाई के लिए बहुआयामी दृष्टिकोण है क्योंकि जो कुछ भी हम करते हैं उसका प्रभाव वैश्विक प्रकृति पर पड़ता है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री अक्षय ऊर्जा के प्रति अपनी महत्वाकांक्षा को रेखांकित सकते हैं और साथ ही अंतर्राष्ट्रीय सौर गठबंधन को लेकर भारतीय भूमिका के बारे में अपना पक्ष रख सकते हैं।

About Arun Kumar Singh

Check Also

नवरात्रि के चौथा दिन ! करें मां कुष्मांडा की पूजा, ये है मंत्र और महत्व              310x165

नवरात्रि के चौथा दिन ! करें मां कुष्मांडा की पूजा, ये है मंत्र और महत्व

नवरात्र का आज चौथा दिन है। देवीभागवत पुराण के अनुसार इस दिन देवी के चौथे …

Leave a Reply

Copyright © 2017, All Right Reversed.