Wednesday , April 24 2019 [ 6:15 AM ]
Breaking News
Home / अन्य / बुलंदशहर में बवाल: भीड़ के तांडव में पुलिस बनी शिकार, ADG बोले सच आएगा सामने
बुलंदशहर में बवाल: भीड़ के तांडव में पुलिस बनी शिकार, ADG बोले सच आएगा सामने adg

बुलंदशहर में बवाल: भीड़ के तांडव में पुलिस बनी शिकार, ADG बोले सच आएगा सामने

लखनऊ/बुलंदशहर: यूपी का बुलंदशहर जिला सोमवार को सुलग उठा।  स्याना इलाके में अवैध बूचड़खाने की अफवाह के बाद हिंसा फैल गई। पथराव में थाना प्रभारी सुबोध सिंह समेत दो लोगों को जान चली गई। अवैध बूचड़खाने के खिलाफ लोग प्रदर्शन कर रहे थे। मौके पर जब पुलिसवाले पहुंचे तो मामला और गरमा गया। भीड़ की तरफ से जबरदस्त पथराव और फायरिंग हुई। अभी तक जो जानकारी मिली है उसके मुताबिक अभी गोहत्या के प्रमाण नहीं मिले हैं। इस मामले की तह तक पहुंचने के लिए मजिस्ट्रेट जांच के आदेशबुलंदशहर में बवाल: भीड़ के तांडव में पुलिस बनी शिकार, ADG बोले सच आएगा सामने adg 300x274 दिए गए हैं।

   यूपी के एडीजी लॉ एंड ऑर्डर आनंद कुमार से जब पूछा गया कि क्या इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह दादरी के अखलाक हत्याकांड में जांच अधिकारी थे। उस सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि 28 सितंबर 2015 से लेकर 9 नवंबर 2015 तक वो उस केस में जांच अधिकारी थे। लेकिन अखलाक केस में चार्जशीट किसी दूसरे जांच अधिकारी ने दाखिल की थी।

   आनंद कुमार का कहना है कि शुरुआती दौर में ग्रामीण सहमत हो गए। लेकिन जाम खुलने के बाद माहौल खराब हो गया। 15 से ज्यादा वाहनों को आग के हवाले कर दिया गया। भीड़ की तरफ से जबरदस्त पथराव हुआ। पथराव के दौरान थाना प्रभारी सुबोध सिंह के सिर में पत्थर लगा। हालांकि पोस्टमार्टम की रिपोर्ट के बाद साफ हो सकेगा कि मौत की वजह के बारे में पता चल सकेगा। एक ग्रामीण सुमित की मौत में प्राथमिक जानकारी है कि उसकी मौत गोली लगने से हुई है। ये बता फिलहाल संभव नहीं है कि सुमित की मौत पुलिस की गोली लगने से हुई या ग्रामीणों की तरफ से हुई।

बुलंदशहर में बवाल: भीड़ के तांडव में पुलिस बनी शिकार, ADG बोले सच आएगा सामने bb 300x164एडीजी इंटेलिजेंस को मौके पर भेजा जा रहा है। दो दिनों के अंदर इस संबंध में रिपोर्ट वो पेश करेंगे। एसआईटी, गोकशी की अफवाह और बाद की हिंसा में जांच के लिए एसआईटी आईजी मेरठ रेंज की अगुवाई में गठित की गई है।

यूपी के एडीजी लॉ एंड ऑर्डर आनंद कुमार का कहना है कि हालात अब नियंत्रण में है। बताया जा रहा है कि कुछ हिंदूवादी संगठनों को ये जानकारी मिली थी कि ट्रक में भर कर गायों को बूचड़खाने ले जाया जा रहा था। जैसे ही ये जानकारी मिली भारी संख्या में लोग इकठ्ठा हुए और ट्रक से गायों को उतार कर ट्रक में आग लगा दी।

बुलंदशहर के जिलाधिकारी अनुज झा का कहना है कि पुलिस और आमलोगों के बीच झड़प में एक शख्स की मौत हो गई है। इस संबंध में कई तरह की जानकारियां सामने आ रही हैं। बताया जा रहा है कि कहीं से ये खबर सामने आई कि गायों से भरी एक ट्रक को अवैध बूचड़खाने ले जाया जा रहा था। हालांकि इसकी पुष्टि फिलहाल नहीं हो सकी है।

मौके पर  पुलिस पहुंची और लोगों से कहासूनी हुई। मामला इतना आगे बढ़ा कि लोगों ने पथराव शुरू कर दिया और जवाब में पुलिस ने लाठीचार्ज किया। पुलिस के लाठीचार्ज करने के बाद माहौल और गरम हो गया और गोलीबारी हुई जिसमें एक पुलिस इंस्पेक्टर की मौत हो गई।

About Arun Kumar Singh

Check Also

लोकतंत्र के महापर्व यानि लोकसभा चुनाव 2019: दूसरे फेज की वोटिंग में करीब 66 फीसदी वोट पड़े Capture 14 298x165

लोकतंत्र के महापर्व यानि लोकसभा चुनाव 2019: दूसरे फेज की वोटिंग में करीब 66 फीसदी वोट पड़े

लोकतंत्र के महापर्व यानि लोकसभा चुनाव के लिए 18 अप्रैल को दूसरे चरण का मतदान …

Leave a Reply

Copyright © 2017, All Right Reversed.