Tuesday , July 17 2018 [ 7:19 PM ]
Breaking News
Home / अन्य / जल्द ही पूरे देश में लागू होगा एक ही इमरजेंसी नंबर 112, मिलेंगी ऐसी सुविधाएं
[object object] जल्द ही पूरे देश में लागू होगा एक ही इमरजेंसी नंबर 112, मिलेंगी ऐसी सुविधाएं eee 544x330

जल्द ही पूरे देश में लागू होगा एक ही इमरजेंसी नंबर 112, मिलेंगी ऐसी सुविधाएं

   अगर यह संभव हो गया तो पुलिस सहायता के लिए 100, अग्निशमन सेवा के लिए 101, महिलाओं को एंबुलेंस के लिए 102 व अन्य एंबुलेंस सेवा के लिए 108 और महिलाओं की सहायता के लिए 1090 व 181 नंबर डायल करने की आवश्यकता नहीं होगी। यानी इन सेवाओं के लिए 112 डायल करना होगा।

  [object object] जल्द ही पूरे देश में लागू होगा एक ही इमरजेंसी नंबर 112, मिलेंगी ऐसी सुविधाएं eee 300x208 पूरे देश में जल्द ही 112 नंबर पर सभी इमरजेंसी सेवाएं उपलब्ध होंगी। इसी नंबर पर शिकायत दर्ज की जाएगी और फिर वहीं से संबंधित विभाग को शिकायत भेजकर सहायता मुहैया कराई जाएगी। केंद्र सरकार ने इसकी कवायद तेज कर दी है। सोमवार को केंद्रीय गृह सचिव सभी राज्यों के मुख्य सचिवों व पुलिस महानिदेशकों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग कर इसे मूर्त रूप देने के लिए कदम बढ़ाएंगे।

      बता दें, 112 अंतरराष्ट्रीय इमरजेंसी नंबर है और दुनिया के अधिकतर संपन्न देशों में इसी नंबर पर तमाम इमरजेंसी सेवाएं उपलब्ध हैं। वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के दौरान नेशनल इमरजेंसी रिस्पांस सिस्टम पर विचार किया जाएगा। साथ ही यह तय किया जाएगा कि 112 नंबर ही देश भर में तमाम तरह की इमरजेंसी सेवाओं में काम करे। 

      यूपी 100 के एडीजी आदित्य मिश्रा का कहना है कि यूपी एक ही नंबर पर तमाम इमरजेंसी सेवाएं देने के लिए पूरी तरह से तैयार है। जबकि अन्य राज्यों को इसके लिए काफी काम करना होगा। हर तरह की इमरजेंसी के लिए एक ही नंबर होने से लोगों को इसका लाभ लेने में आसानी होगी।The same emergency number 112 will be applicable to the whole country soon, such facilities will be available

About Arun Kumar Singh

Check Also

[object object] पुनरुद्धार से पांवधोई नदी अपने वास्तविक स्वरूप को प्राप्त करेगी,  इसके तल का क्षेत्रफल बढ़ेगा तथा जल की मात्रा में वृद्धि होगी                    310x165

पुनरुद्धार से पांवधोई नदी अपने वास्तविक स्वरूप को प्राप्त करेगी, इसके तल का क्षेत्रफल बढ़ेगा तथा जल की मात्रा में वृद्धि होगी

    नदी के प्रथम भाग उद्गम स्थल शंकलापुरी मन्दिर से बाबा लालदास के बाड़े …

Leave a Reply

Copyright © 2017, All Right Reversed.