Monday , April 22 2019 [ 9:38 AM ]
Breaking News
Home / अन्य / किसान अन्नदाता है, तो व्यापारी देश की अर्थव्यवस्था को ऊंचाई पर पहुँचाने का माध्यम: मुख्यमंत्री
किसान अन्नदाता है, तो व्यापारी देश की अर्थव्यवस्था को ऊंचाई पर पहुँचाने  का माध्यम: मुख्यमंत्री Press 4 660x330

किसान अन्नदाता है, तो व्यापारी देश की अर्थव्यवस्था को ऊंचाई पर पहुँचाने का माध्यम: मुख्यमंत्री


किसान और व्यापारी एक दूसरे के पूरक होकर कार्य करें तभी विकास को गति मिलेगी

  लखनऊ:  उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आज जनपद गोरखपुर में कृषि मण्डी का निरीक्षण किया तथा किसानों एवं व्यापारियों से वार्ता कर मण्डी समिति द्वारा प्रदत्त सुविधाआंे/व्यवस्थाओं के विषय में जानकारी प्राप्त की। उन्होंने सम्बन्धित अधिकारियों को निर्देश दिये कि किसानांे एवं व्यापारियों को सभी आवश्यक सुविधाएं उपलब्ध करायें तथा उनकी समस्याओं का निराकरण प्राथमिकता के आधार पर करेें। 

किसान अन्नदाता है, तो व्यापारी देश की अर्थव्यवस्था को ऊंचाई पर पहुँचाने  का माध्यम: मुख्यमंत्री Press 4 1024x885

इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने ‘मुख्यमंत्री व्यक्तिगत दुर्घटना सहायता योजना’ के तहत ग्राम चड़रहा जनपद महराजगंज के श्री राजाराम को 2 लाख रुपये तथा ‘मुख्यमंत्री खलिहान अग्निकाण्ड दुर्घटना सहायता योजना’ के तहत महराजगंज जनपद के ग्राम पकडीयार विशुनपुर निवासी सुश्री सावित्री देवी को 25,600 रुपये का चेक प्रदान किया। इसके अतिरिक्त मुख्यमंत्री जी ने 10 किसानांे को 4-4 प्लास्टिक कैरेट और 10 किसानों को प्लास्टिक शीट वितरित कीं।मुख्यमंत्री जी ने अपने सम्बोधन मे कहा कि किसान अन्नदाता है, और व्यापारी देश की अर्थव्यवस्था को ऊंचाई पर पहुंचाने का माध्यम है।

किसानों एवं व्यापारियों को अधिक से अधिक सुविधाएं उपलब्ध करायी जायें। उन्होंने कहा कि प्रदेश की कुल 251 मण्डियों में किसानों एवं व्यापारियों की सुविधा का प्राविधान किया गया है। उन्होंने अधिकारियांे को निर्देशित किया कि मण्डियों में अच्छी सड़कें, बैंक, स्वच्छ शौचालय, शुद्ध पेयजल, सुरक्षा, साफ-सफाई की समुचित व्यवस्था की जाए, ताकि किसानांे एवं व्यापारियों को किसी तरह की परेशानी न हो। मुख्यमंत्री जी ने कहा कि मण्डियांे में राष्ट्रीय कृषि बाजार योजना के तहत सभी सामानों की रेट सूची स्क्रीन पर दर्शाये जाते है, जिसे देखकर सामानों के क्रय विक्रय में किसी तरह की अनियमितता की आशंका नहीं होगी और पूरी पारदर्शिता के साथ क्रय विक्रय में सहूलियत होगी। उन्होंने कहा कि जितना अधिक आधुनिक तकनीकी का प्रयेाग होगा, उतना ही बेहतर कार्य पारदर्शिता के साथ हो सकेगा।

किसान अन्नदाता है, तो व्यापारी देश की अर्थव्यवस्था को ऊंचाई पर पहुँचाने  का माध्यम: मुख्यमंत्री Press 7 1024x441

किसान और व्यापारी एक दूसरे के पूरक होकर कार्य करें तभी विकास को गति मिलेगी। किसानों एवं व्यापारियों के हित में अधिक से अधिक सुविधाएं उपलब्ध करायी जायें, जिससे कि अधिक से अधिक व्यापार को बढ़ावा मिल सके।मुख्यमंत्री जी ने कहा कि गांव के छोटे-छोटे हाट/बाजार में खाद्य सामग्री बेचने वाले किसानों को प्लास्टिक शीट, प्लास्टिक कैरेट भी दिये जाएंगे, जिससे वे अपने उत्पादन को आसानी से बाजार तक ला सकें। मण्डी समिति की आय गांव के विकास में काफी सहायक सिद्ध होती है।

ग्रामीण हाट/बाजार को अच्छा बनाने हेतु अच्छी सड़कों का निर्माण कराने के साथ-साथ वहां मूलभूत सुविधाएं उपलब्ध कराने के निर्देश सम्बंधित अधिकारियों को देते हुए उन्होंने कहा कि मण्डी समिति की आय से प्रदेश के विकास को गति मिलेगी।  मुख्यमंत्री जी ने जिला प्रशासन को निर्देश दिये कि प्रतिमाह व्यापारियांे के साथ बैठक करें तथा उनकी समस्याओं का निस्तारण प्राथमिकता के आधार पर किया जाये। उन्होंने कहा कि गोरखपुर मण्डी आदर्श मण्डी के रूप में स्थापित होगी।

किसान अन्नदाता है, तो व्यापारी देश की अर्थव्यवस्था को ऊंचाई पर पहुँचाने  का माध्यम: मुख्यमंत्री Press 5 1024x699

मण्डी समिति सभी व्यापारियों/किसानों के हित में कार्य करे, जिससे समस्याओं के निस्तारण हेतु उन्हे भटकना न पड़े ऐसा तंत्र विकसित करें। इस अवसर पर मण्डी निदेशक श्री रमाकान्त पाण्डेय ने मुख्यमंत्री जी का स्वागत करते हुए मण्डी समिति में संचालित योजनाओं की विस्तार से जानकारी दी। उन्होंने बताया कि प्रदेश में कुल 251 मण्डी समितियों में से 26 मण्डियों को आधुनिक मण्डी समिति के रूप में विकसित करना प्रस्तावित है, जिसमें से जनपद गोखपुर भी सम्मिलित है। उन्होंने बताया कि यहां स्क्रीन के द्वारा बाजार भाव भी प्रतिदिन प्रदर्शित किया जाता है तथा सोलर पैनल के माध्यम से लाइट की व्यवस्था की गयी है।

यहां ‘राष्ट्रीय कृषि बाजार योजना’ भी विकसित है। आधुनिक मण्डी के रूप में सी0सी0टी0वी0 कैमरा भी लगाया गया है, बायोकम्पोस्ट की व्यवस्था की जा रही है। उन्हांेने बताया कि मुख्यमंत्री जी के निर्देशानुसार ग्रामीण क्षेत्रों में हाट/बाजार विकसित करने हेतु तीन स्थलों गगहा बाजार, गजपुर एवं कुसम्ही का चयन किया गया तथा शेष हेतु सार्वजनिक भूमि की तलाश की जा रही है।इस अवसर पर गोरखपुर के महापौर श्री सीताराम जायसवाल, विधायक श्री विपिन सिंह सहित अन्य जनप्रतिनिधिगण, शासन-प्रशासन के अधिकारी एवं अन्य गणमान्य नागरिक उपस्थित थे।

About Arun Kumar Singh

Check Also

लोकतंत्र के महापर्व यानि लोकसभा चुनाव 2019: दूसरे फेज की वोटिंग में करीब 66 फीसदी वोट पड़े Capture 14 298x165

लोकतंत्र के महापर्व यानि लोकसभा चुनाव 2019: दूसरे फेज की वोटिंग में करीब 66 फीसदी वोट पड़े

लोकतंत्र के महापर्व यानि लोकसभा चुनाव के लिए 18 अप्रैल को दूसरे चरण का मतदान …

Leave a Reply

Copyright © 2017, All Right Reversed.