Thursday , July 19 2018 [ 5:22 PM ]
Breaking News
Home / राज्य / दिल्ली / चार दिन में गंवाए 670 अरब रुपए, सरकारी बैंकों के गिरे शेयर,बैंकों के मुनाफे पर असर होगा
चार दिन में गंवाए 670 अरब रुपए, सरकारी बैंकों के गिरे शेयर,बैंकों के मुनाफे पर असर होगा

चार दिन में गंवाए 670 अरब रुपए, सरकारी बैंकों के गिरे शेयर,बैंकों के मुनाफे पर असर होगा

चार दिन में गंवाए 670 अरब रुपए, सरकारी बैंकों के गिरे शेयर,बैंकों के मुनाफे पर असर होगा        300x228पंजाब नेशनल बैंक (पीएनबी) का घोटाला सामने आने के बाद से चार कारोबारी दिनों में बैंकों ने दस अरब डॉलर (65 हजार करोड़ रुपये) गंवा दिए हैं। पीएनबी में करीब 11 हजार 300 करोड़ का घोटाला सामने आया है। 

बैंकों के मुनाफे पर असर होगा
विश्लेषकों का कहना है कि आने वाले दिनों में यह गिरावट जारी रह सकती है, खासकर सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों के लिए यह मुश्किल भरा वक्त है। बैंकों की चौथी तिमाही के नतीजों पर असर दिखेगा। सरकारी बैंक पहले ही 7.5 लाख करोड़ रुपये के फंसे कर्ज (एनपीए) से जूझ रहे हैं। सरकार ने उन्हें दो साल में 2 लाख 11 हजार करोड़ रुपये मुहैया कराने का ऐलान किया है, लेकिन इसके साथ कड़े सुधारों की शर्तें जोड़ी हैं। यूको बैंक ने शनिवार को कहा था कि पीएनबी को चूना लगाने वाले नीरव मोदी के एलओयू के जरिये 2651 करोड़ रुपये का चूना लगा है। इससे स्टेट बैंक ऑफ इंडिया को 1360 करोड़ और इलाहाबाद बैंक को दो हजार करोड़ रुपये का नुकसान हुआ है। सरकारी बैंकों के शेयर एक साल पहले के निचले स्तर पर पहुंच गए हैं, जबकि सरकार के पुर्नपूंजीकरण बांड जारी करने के ऐलान के बाद इनमें काफी उछाल आया था।

एडलवेस सिक्योरिटीज ने एक रिपोर्ट में कहा है कि यह घोटाला और संपत्ति पर पहले से चल रहा दबाव पीएसयू बैंकों के प्रदर्शन पर असर डालेगा। उसके मुताबिक, जटिल प्रक्रिया और निगरानी में खामियों की वजह से ऐसे घोटाले बार-बार सामने आ रहे हैं। पीएसयू बैंक कमजोर बैंकिंग सिस्टम से जूझ रहे हैं। रिपोर्ट के मुताबिक, निजी बैंकों के लिए कोर बैंकिंग सिस्टम की अनदेखी करना मुश्किल है, ऐसी ही व्यवस्था सरकारी बैंकों के लिए भी होना चाहिए।  

दो माह के निचले स्तर पर सेंसेक्स
धातु और बैंकिंग शेयरों में बिकवाली दबाव के चलते बीएसई का सेंसेक्स सोमवार को 236 अंक से अधिक टूटा और दो महीने के निचले स्तर 33,774.66 अंक पर बंद हुआ। कारोबारियों का कहना है कि पीएनबी धोखाधड़ी मामले से निवेशकों की धारणा पर बहुत प्रतिकूल असर पड़ा है। नेशनल स्टाक एक्सचेंज का निफ्टी 73.90 अंक टूटकर 10,378.40 अंक पर बंद हुआ।

बिकवाली दबाव से पीएनबी के शेयरो में गिरावट लगातार चौथे सत्र में जारी रही और इनमें लगभग 8 प्रतिशत की और गिरावट आई। बैंक का शेयर लगभग 31 प्रतिशत लुढ़क चुका है। इसके साथ ही कच्चे तेल की अंतरराष्ट्रीय कीमतों में तेजी का राजकोषीय घाटे पर असर की आशंका से भी बाजार रुख प्रभावित हुआ।

सेंसेक्स में करीब 0.71% और निफ्टी में 0.69% की गिरावट आई। सेंसेक्स शुक्रवार को 286.71 अंक टूटा था और सोमवार को 33,554.37 अंक तक लुढ़कने के बाद यह 236.10 अंक टूटकर 33,774.66 अंक पर बंद हुआ। सेंसेक्स का यह पिछले साल 21 दिसंबर के बाद का निचला स्तर है जब यह 33,756.20 अंक पर बंद हुआ था।

किस बैंक के गिरे कितने शेयर
पीएनबी- 31 %
यूको बैंक : 11.26 %
यूनियन बैंक : 10.49 %
इलाहाबाद बैंक : 10.77 %
बैंक ऑफ बड़ौदा : 9.28 %
सिंडिकेट बैंक : 8.96 %
बैंक ऑफ महाराष्ट्र : 7.33 % 
स्टेट बैंक : 5.57 %
कारपोरेशन बैंक : 3.32 %

सरकारी बैंक को इतना नुकसान-
पंजाब नेशनल बैंक : 9850 करोड़ 
स्टेट बैंक ऑफ इंडिया : 17,780
एक्सिस बैंक : 8130 करोड़
यस बैंक : 5845 करोड़
आईसीआईसीआई : 3210 करोड़ 
(चार कारोबारी सत्रों का आंकड़ा) Rs 670 billion lost in four days, falling shares of government banks will affect the profits of banks

About Arun Kumar Singh

Check Also

[object object] पुंछ के जंगलों से सेना ने बरामद किया हथियारों का जखीरा Capture 1

पुंछ के जंगलों से सेना ने बरामद किया हथियारों का जखीरा

    जम्मू,06 जुलाई । जम्मू कश्मीर के पुंछ जिले के जंगल से सेना ने …

Leave a Reply

Copyright © 2017, All Right Reversed.