Wednesday , November 14 2018 [ 5:30 PM ]
Breaking News
Home / अन्य / पीएम आवास या शौचालय निर्माण घोटाला ही घोटाला, बहरइच में कागज पर 200 आवास
[object object] पीएम आवास या शौचालय निर्माण घोटाला ही घोटाला, बहरइच में कागज पर 200 आवास           473x330

पीएम आवास या शौचालय निर्माण घोटाला ही घोटाला, बहरइच में कागज पर 200 आवास

पीएम आवास या शौचालय निर्माण घोटाला ही घोटाला, बहरइच में कागज पर 200 आवास
[object object] पीएम आवास या शौचालय निर्माण घोटाला ही घोटाला, बहरइच में कागज पर 200 आवास           300x221
 
लखनऊ । प्रधानमंत्री आवास योजना की बात हो या शौचालय निर्माण की रकम हड़पने में कोई पीछे नहीं है। बाराबंकी में शौचालय निर्माण में घोटाले को लेकर जिला स्तरीय 60 टीमें गठित की गईं हैं। अधिकारी शौचालय निर्माण की जांच करेंगे और कैंपकर शौचालय निर्माण करवाएंगे। बहराइच में प्रधानमंत्री आवास योजना का हाल खराब है। यहां के 14 ब्लॉकों में 200 से अधिक लाभार्थियों के आवास की दूसरी किश्त आने के बाद भी नहीं बन सके। 1.14 करोड़ रुपए पानी में गए।
 
बहराइच में नहीं बने 200  पीएम आवास 
 
प्रधानमंत्री आवास योजना की रकम हड़पने में कोई पीछे नहीं रहे। जांच में खुलासे ने अधिकारियों की नींद उड़ा दी है। जिले के सभी 14 ब्लॉकों में 200 से अधिक लाभार्थी आवास की दूसरी किश्त का 1.14 करोड़ रुपए डकार गए है। जांच में इन लाभार्थियों के आवास अधूरे हैं। ऐसे लाभार्थियों की सूची तैयार की जा रही है। जल्द ही इन पर सरकारी धन हड़पने का मुकदमा दर्ज कराया जाएगा। हड़पी गई धनराशि की रिकवरी भी कराई जाएगी। हालांकि लाभार्थी यही बताते हैं कि पहली किस्त आने के लिए कुछ धन अपने पास से देना पड़ता है, इसलिए दूसरी किस्त आने पर मकान बनाने के लिए पैसा पूरा नहीं पड़ता। यहीं हाल इस जिले में शौचालय निर्माण योजना का है।
 
PM housing or toilet manufacturing scam scam, 200 houses on paper in Bahraich
लखनऊ मेट्रो की ऑपरेशन विंग का होगा विस्तार, नवंबर से स्टेशनों पर तैनात हो जाएंगे कर्मी
 
 
लखनऊ । नार्थ साउथ कॉरिडोर के 23 किमी. रूट पर मेट्रो का सुगम संचालन का खाका लखनऊ मेट्रो रेल कॉरपोरेशन ने तैयार करना शुरू कर दिया है। इसी क्रम में अब एक और नए निदेशक का चयन भी किया जाना है। साथ ही आपरेशन विंग का विस्तार किया जाएगा। निदेशक ही लखनऊ सहित अन्य शहरों में मेट्रो के लिए पूर्णरूप से जिम्मेदार होगा। इसी के मद्देनजर एलएमआरसी ने निदेशक ऑपरेशन पद पर नियुक्ति भी निकाल दी है। वर्तमान में निदेशक रोलिंग स्टॉक ही मेट्रो संचालन की जिम्मेदारी संभाल रहे हैं।
 
नार्थ साउथ कॉरिडोर के प्राथमिक सेक्शन 8.5 किमी. पर एलएमआरसी मेट्रो का संचालन कर रहा है। आठ स्टेशनों पर नियमित रूप से 240 फेरे मेट्रो लगाती हैं। इसलिए स्टाफ पर बहुत ज्यादा दबाव नहीं है, लेकिन 1 अप्रैल 2019 में यात्रियों का 23 किमी. रूट पर ग्राफ लाखों में होगा। इसके लिए एलएमआरसी के प्रबंध निदेशक कुमार केशव ने 27 जून को निदेशक पद के लिए आवेदन निकाला है। अधिकारियों के मुताबिक 23 किमी. में आने वाले समय में जबरदस्त यात्रियों का ग्राफ होगा, उसके लिए अस्सी कोच यानी बीस मेट्रो का संचालन नियमित रूप से करना होगा।भारत सरकार के विदेश मंत्रलय के राजदूतों उच्चायुक्तों के सात सदस्यीय शिष्टमंडल ने लखनऊ मेट्रो का दौरा किया। निरीक्षण के दौरान एलएमआरसी के प्रबंध निदेशक कुमार केशव ने मेहमानों को डिपो दिखाने के कंट्रोल रूम व मेट्रो की तकनीक से अवगत कराया।

About Arun Kumar Singh

Check Also

[object object] शिवपाल ने रामगोपाल के  पैर छूकर किया चुनावी जंग का ऐलान        310x165

शिवपाल ने रामगोपाल के पैर छूकर किया चुनावी जंग का ऐलान

शिवपाल यादव अखिलेश की इसी दुखती रग को दबाने के लिए आज शुक्रवार को मुजफ्फरनगर …

Leave a Reply

Copyright © 2017, All Right Reversed.