Sunday , January 20 2019 [ 4:20 PM ]
Breaking News
Home / अन्य / आतंकी के परिवार से मिलने पर घिरीं महबूबा !
आतंकी के परिवार से मिलने पर  घिरीं महबूबा ! mmm 492x330

आतंकी के परिवार से मिलने पर घिरीं महबूबा !

आतंकी के परिवार से मिलने पर  घिरीं महबूबा ! kkk

आतंकियों के मुद्दे पर सीएम रहते हुए महबूबा मुफ्ती की भाषा कुछ और होती थी। लेकिन अब उनके सुर बदल चुके हैं। उन्होंने कहा कि कोई जानबूझकर हथियार नहीं उठाता है। इस मुद्दे पर उमर अब्दुल्ला, महबूबा पर जमकर बरसे।

नई दिल्ली : पीडीपी की मुखिया महबूबा मुफ्ती जब जम्मू-कश्मीर की सीएम थीं तो कहा करती थीं कि आखिर कोई शख्य आर्मी कैंप के पास क्या करने जाता है। इस बयान के जरिए उन्होंने सेना के ऑपरेशन ऑल आउट का समर्थन किया था। लेकिन जब सत्ता से बाहर हुईं तो उनके सुर बदल गए। वो सेना की कार्रवाई पर निशाना साधने लगी। इससे भी बड़ी बात ये है कि हाल ही में मारे गए एक आतंकी के परिवार वालों से वो मिलीं। आतंकी के घर जाने को उन्होंने सकारात्मरक कदम बताया। लेकिन उनके इस कदम की चौतरफा आलोचना हो रही है।

गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने उनके इस कदम की आलोचना की। इसके साथ नेशनल कॉन्फ्रेंस के नेता उमर अब्दुल्ला भी जमकर बरसे। राज्यसभा में बोलते हुए गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि एक धारणा बनी हुई थी कि बीजेपी के लोग हुर्रियत से बात नहीं करना चाहते हैं, इसी वजह से ठहराव की स्थिति बनी हुई है। हमने कहा कि आप जाइए और बात करिए। जब सभी दलों के लोग श्रीनगर बात करने के लिए गए तो उन्होंने अपना दरवाजा बंद कर लिया था।

अगर उन लोगों ने बात कर ली होती तो शायद कोई न कोई और रास्ता खुल जाता। उस समय की सीएम महबूबा मुफ्ती से कहा था कि अगर वो हमसे बात करना चाहते हैं तो वो केंद्र सरकार उनसे बिना किसी शर्त बातचीत के लिए तैयार हैं। 

नेशनल कॉन्फ्रेंस के नेता उमर अब्दुल्ला कहते हैं कि जब महबूबा मुफ्ती सरकार में थीं तो बीजेपी को खुश करने के लिए आतंकियों के डेथ वारंट को इजाजत देती थीं। लेकिन अब जो सत्ता से बाहर हैं तो मतदाताओं को खुश करने के लिए मारे गए आतंकियों के घर जा रही हैं। ताज्जुब की बात है कि वो मतदाताओं को किस हद तक मूर्ख समझती हैं।

ऑपरेशन ऑल आउट की आर्किटेक्ट रहीं महबूबा के शासन में 2015 से सैकड़ों लोग मारे गए। लेकिन अब उनके घर जाकर अपनी छवि को सुधारने की कोशिश कर रही हैं

अब सवाल ये है कि मारे गए आतंकी के सगे संबंधी से मिलने के बाद महबूबा मुफ्ती ने क्या कहा था। उन्होंने कहा कि कोई भी ताकत या सेना हमारे लोगों से लड़कर उन्हें जीत नहीं सकती है। सिर्फ माताओं और उनके परिवार वालों को प्रेम के जरिए विश्वास बहाल किया जा सकता है। आगे वो कहती हैं कि कोई भी मां ये नहीं चाहती है कि उसका बेटा हथियार उठाए। कोई भी शख्स अपनी भरी जवानी में हाथ से जान खो बैठे। लिहाजा परिवारों को परेशान कर कुछ भी हासिल नहीं किया जा सकता है। 

About Arun Kumar Singh

Check Also

पीएम मोदी ने यूं की के-9 वज्र होवित्जर तोप की सवारी              1 310x165

पीएम मोदी ने यूं की के-9 वज्र होवित्जर तोप की सवारी

हजीरा: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने हजीरा  (सूरत) में शनिवार को एल एंड टी के आर्मर्ड …

Leave a Reply

Copyright © 2017, All Right Reversed.