Wednesday , August 22 2018 [ 1:01 PM ]
Breaking News
Home / अन्य / मनुष्य ईश्वर की सर्वश्रेष्ठ कृति है-योगी आदित्यनाथ
[object object] मनुष्य ईश्वर की सर्वश्रेष्ठ कृति है-योगी आदित्यनाथ 33024534 655171051492266 5690366444932431872 o 660x330

मनुष्य ईश्वर की सर्वश्रेष्ठ कृति है-योगी आदित्यनाथ

   Image may contain: 2 people, people standing [object object] मनुष्य ईश्वर की सर्वश्रेष्ठ कृति है-योगी आदित्यनाथ 33024534 655171051492266 5690366444932431872 o  मनुष्य ईश्वर की सर्वश्रेष्ठ कृति है। इसके साथ भेदभाव सृष्टि के साथ अन्याय है। प्रतिभा हर मनुष्य में होती है। यह किसी व्यक्ति, जाति की मोहताज नहीं है। प्रतिभा को मंच की आवश्यकता होती है। डॉ. शकुन्तला मिश्रा राष्ट्रीय पुनर्वास विश्वविद्यालय यही मंच देने का कार्य कर रहा है।
    जीवन एक कला है। धैर्य के साथ अपनी ऊर्जा और प्रतिभा को समुचित ढंग से प्रयोग करने वाले के लिए कुछ भी कठिन नहीं है। जीवन में कुछ विशिष्ट करने के लिए सकारात्मक नजरिये की आवश्यकता होती है। 
    केन्द्र और प्रदेश सरकार दिव्यांगजन के कल्याण के लिए सतत कार्यरत है। इस उद्देश्य से अनेक कदम उठाये गये हैं। प्रधानमंत्री जी स्वयं इन कार्यों की मॉनिटरिंग करते रहते हैं। राज्य सरकार डॉ. शकुन्तला मिश्रा राष्ट्रीय पुनर्वास विश्वविद्यालय में अध्ययनरत दिव्यांगजन के कल्याण, प्रोत्साहन और स्वावलम्बन के लिए हर सम्भव प्रयास करेगी

Man is the best piece of God – Yogi Adityanath All possible efforts will be made for the welfare, encouragement and self-reliance of Divyanganjan studying at the National Rehabilitation University

About Arun Kumar Singh

Check Also

[object object] हर वर्ष विभाजन की टीसें छोड़ जाता है स्वतन्त्रता दिवस              310x165

हर वर्ष विभाजन की टीसें छोड़ जाता है स्वतन्त्रता दिवस

      मानचित्र में जो दिखता है नहीं देश भारत है। भू पर नहीं …

Leave a Reply

Copyright © 2017, All Right Reversed.