Wednesday , June 20 2018 [ 8:52 PM ]
Breaking News
Home / अन्य / खबर की प्रामाणिकता में चूकती पत्रकारिता
[object object] खबर की प्रामाणिकता में चूकती पत्रकारिता IMG 20180302 WA0668 Copy 291x330

खबर की प्रामाणिकता में चूकती पत्रकारिता

    स्वतंत्रता संघर्ष के बारे में बामपंथी इतिहासकारो के गढ़े झूठ को फैलाने में मीडिया ने भरपूर सहायता की !प्रोफेसर से आतंकवादी बने मोहम्मद रफ़ी बट्ट की मौत का मीडिया के एक कुख्यात वर्ग ने अपने तरीके से मातम मनाया ! एनडी टीवी दुःख भरी भाषा में लिखा की एक आतंकवादी के तौर पर उसका कैरियर सिर्फ 36घंटे ही चला !
   [object object] खबर की प्रामाणिकता में चूकती पत्रकारिता IMG 20180302 WA0668 Copy 252x300  एक न्यूज़ पोर्टल ‘द क़्विन्ट’ ने उसे मृदुभाषी बताया ! ये वही न्यूज़ पोर्टल है जिसके मालिको की जडे आपातकालीन आत्याचारो तक जाती है ,मर्यादा की सारी हदे लांघ चुके !इसी संस्थान ने कुछ दिन पहले एक झूठी खबर पोस्ट की थी की कुलभूषण जाधव रॉ का जासूस था !
   तमिलनाडू से कश्मीर घूमने गए एक नौजवान को पत्थारबाजो ने मार डाला ! इस खबर पर सोशल मीडिया पर बहुत सी प्रतिक्रिया मिली लेकिन तथाकथित सेक्युलर मीडिया ने इसे एक मामूली घटना बता कर ख़ारिज कर दिया !टाइम्स ऑफ़ इंडिया ने तो यहा तक कख डाला की ईयर फोन लगाने के कारण पत्थरबाजी का शिकार हो गया !
      टाइम्स नाऊ ने खुलाशा किया की जेहादी संगठन पीएफाआई और कांग्रेस के बीच संथ गाँठ है ! इसी तरह बंग्लोरू में कांग्रेसी उम्मीदवार को जिताने के लिए हजारो की संख्या में फर्जी वोटर कार्ड का मामला छाया रहा !
कुछ रहस्यमई कारणों से हिंदी चंनेलो और अखबारों ने प्रमुखता नही दी! मुख्यधारा मीडिया की चालाकियो को लोग अब समझने लगे है
    सोशल मीडिया पर सक्रीय लोगो ने एक ऐसे लड़के को पहचाना जो खाशतौर एनडी टीवी और आज तक चैनल पर बार बार आम नागरिक के टूर पर बैठाया जाता था !
      उत्तर प्रदेश जागरण डॉट कॉम ने आर टी आई के तहत बीते पांच सालो में बैंक घोटालो की जानकारी मांगी थी ! जो जानकारी मिली उसके अनुसार बीते पांच वर्षो में एक लाख करोड़ के घोटाले सामने आये है !
यह खबर सभी अखबारों ने प्रमुखता से छापी लेकिन यह बात बहुत सफाई से छिपा ले गए की जो घोटाले पकडे गए है वह सभी 2014से पहले के है !मोदी सरकार की सख्ती के कारण ये घोटाले बाहर आये !इस सच्चाई को क्यों छिपाया गया यह जग जाहिर है !
   मीडिया के ऐसे वर्ग के खुलासे की जरुरत है जो खबरों को अपने सेक्युलर पैमाने पर तौलता है फिर परोसता है ! उसकी प्रामाणिकता पूरा समाज बहुत भरोसा करता है ! इसलिए समय समय पर समाज को भी जागरूक करते रहने की जरुरत है !

  जिससे समाज को धोखा न हो ,समाज गुमराह न किया जा सके !

About Arun Kumar Singh

Check Also

[object object] जम्मू-कश्मीर में राज्यपाल शासन को राष्ट्रपति ने दी मंजूरी                                310x165

जम्मू-कश्मीर में राज्यपाल शासन को राष्ट्रपति ने दी मंजूरी

 आपात व्यवस्थाः जम्मू-कश्मीर में 40 साल में आठ बार राज्यपाल शासन        राज्यपाल …

Leave a Reply

Copyright © 2017, All Right Reversed.