Saturday , February 24 2018 [ 5:38 PM ]
Breaking News
Home / खेल / India vs Australia: पुणे की तरह हिट-विकेट नहीं होना चाहेंगे बेंगलुरु के क्यूरेटर
India vs Australia: पुणे की तरह हिट-विकेट नहीं होना चाहेंगे बेंगलुरु के क्यूरेटर msid 57386085width 400resizemode 4australian cricket team

India vs Australia: पुणे की तरह हिट-विकेट नहीं होना चाहेंगे बेंगलुरु के क्यूरेटर

अरविंद सुचिंद्रन, बेंगलुरु
पुणे में खेले गए पहले टेस्ट में पिच को लेकर सवाल उठने के बाद अब बेंगलुरू की पिच के मिजाज को लेकर संशय पैदा होना लाजमी है। भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच दूसरा टेस्ट 4 मार्च से बेंगुलरु के एम. चिन्नास्वामी स्टेडियम में खेला जाएगा। यह सवाल महत्वपूर्ण बन जाता है कि आखिर पिच कैसे खेलेगी। इस बारे में जब पिच क्यूरेटर के श्रीराम से पूछा जाए तो वह कुछ कहने से बचते नजर आ रहे हैं।

श्रीराम ने कहा, ‘नहीं, मैं इस पर बात नहीं कर सकता। इससे पहले हालांकि वह मीडिया में पिच पर बात करने से कभी बचते नजर नहीं आए।

ऐसा नहीं है कि श्रीराम कुछ नया कहते। पिच के बारे में अब सभी लोग एक सीधी बात कहते हैं जिसका अंदाजा आपको पहले से होता है: ‘यह एक स्पोर्टिंग विकेट होगा। यहां हर किसी के लिए कुछ न कुछ जरूर होगा। स्पिनर्स, तेज गेंदबाजों और बल्लेबाजों सभी को इस विकेट से पूरा सहयोग मिलेगा। बाकी सब खिलाड़ियों की क्षमता पर निर्भर करेगा कि वह विकेट से कैसे फायदा उठा पाते हैं।’

कर्नाटक स्टेट क्रिकेट असोसिएशन (केएससीए) के सचिव सुधाकर राव, से भी जब पिच के बारे में सवाल पूछा गया तो वह भी बीते कुछ दिनों मे वही जवाब दोहरा चुके हैं।

पांडुरंग सलगांवकर, जो महाराष्ट्र क्रिकेट स्टेडियम पुणे के क्यूरेटर थे, ने पहले टेस्ट की पिच के बारे में कहा था कि यहां गेंद को काफी उछाल मिलेगा।’ पर विकेट ने इसके बिलकुल उलट बर्ताव किया और इस घूमती विकेट पर भारतीय टीम ढाई दिन में ही बुरी तरह हार गई।

तो, ऐसे में पिच के बारे में टेस्ट मैच से एक दिन पहले भी क्यूरेटर या राव क्या कहते हैं इस पर भरोसा करने का कोई फायदा नहीं है। मंगलवार को टीम इंडिया यहां पहुंचेगी और उसके बाद अगले दो दिनों में पिच पूरी तरह बदल सकती है।

राव ने कहा, ‘हमने अभी पिच को पानी देना बंद नहीं किया है।’ उन्होंने कहा, ‘अभी दिन में यहां काफी गर्मी होती है ऐसे में पानी काफी जल्दी सूख जाता है। भारतीय टीम मंगलवार को बेंगुलरु पहुंच रही है और उन्होंने अभी तक विकेट को लेकर कोई अनुरोध किया है। वह पिच को देखने के बाद ही कोई सुझाव देगी। इसके बाद हम सलाह के अनुसार पिच में बदलाव करने का प्रयास करेंगे।’

क्यूरेटर अपनी योजनाओं का खुलासा करने से बचते हैं क्योंकि यह पुणे की तरह बैकफायर कर सकता है। पुणे में स्टीव ओ’कीफ और ऑफ स्पिनर नेथन लायन ने स्पिन के लिए मददगार पिच का भरपूर फायदा उठाया और भारतीय बल्लेबाजी को पूरी तरह ढेर कर दिया।

इस मैच में भारतीय स्पिनर्स ने भी विकेट लिए पर वह ऑस्ट्रेलियाई गेंदबाजों जैसे प्रभावी साबित नहीं हुए।

पहली पारी में कुछ भारतीय बल्लेबाज जिस तरह आउट हुए उसका पिच से कोई संबंध नजर नहीं आया। खास तौर पर विराट कोहली और चेतेश्वर पुजारा का जिक्र यहां करना जरूरी है। पर फिर भी अगर भारतीय टीम के खिलाफ कुछ जाता है तो अगले दिन क्यूरेटर से ही सवाल किए जाएंगे।

दो साल पहले पहले क्यूटरेटर्स ने साउथ अफ्रीका के खिलाफ नागपुर टेस्ट में बेहद घूमने वाली पिच तैयार की थी। यह प्लान उस समय भारतीय टीम के काफी काम आया। भारत ने मैच में शानदार प्रदर्शन किया- लेकिन आईसीसी ने जामथा विकेट की आलोचना करते हुए इसे खराब करार दिया था। तो ऐसे में राव चाहते हैं कि पिच ऐसी हो जो पांच दिन तक टिकी रही। उन्होंने कहा, ‘श्रीराम बीसीसीआई पैनल में हैं और इसलिए वह मीडिया से बात नहीं कर सकते। उन्होंने हालांकि पिच की तैयारियों के बारे में मुझे बता दिया है। यह एक ऐसी विकेट होगी जो पांच दिनों तक टिकी रहेगी। यह एक ऐसी विकेट होगी जिसमें सबके लिए सब कुछ होगा।

About Kumar Addu

Check Also

India vs Australia: वह लम्हा जब ओ’कीफ बने टीम इंडिया के लिए घातक msid 57385144width 400resizemode 4okeefe 310x165

India vs Australia: वह लम्हा जब ओ’कीफ बने टीम इंडिया के लिए घातक

हाइलाइट्स • भारत दौरे पर ऑस्ट्रेलियाई टीम के साथ बतौर विशेषज्ञ जुड़े हैं श्रीराम • …

Leave a Reply

Copyright © 2017, All Right Reversed.