Tuesday , April 24 2018 [ 2:36 AM ]
Breaking News
Home / अंतरराष्ट्रीय / इमैनुअल मैक्रों के काशी में आने से और गहरी हुई भारत-फ्रांस की दोस्ती
[object object] इमैनुअल मैक्रों के काशी में आने से और गहरी हुई भारत-फ्रांस की दोस्ती ffff

इमैनुअल मैक्रों के काशी में आने से और गहरी हुई भारत-फ्रांस की दोस्ती

मुख्य संवाददाता वाराणसी!

   [object object] इमैनुअल मैक्रों के काशी में आने से और गहरी हुई भारत-फ्रांस की दोस्ती ffff 300x176    दुनिया के प्राचीन व जीवंत शहरों में शुमार काशी और उससे सटे विंध्य क्षेत्र के सांस्कृतिक धरातल पर सोमवार को भारत एवं फ्रांस की मित्रता के नये प्रतिमान गढ़े गए। भारत यात्रा पर आये फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों सोमवार को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के साथ पहले मिर्जापुर और फिर काशी पहुंचे। मिर्जापुर में उन्होंने यूपी के सबसे बड़े 75 मेगावाट के सोलर प्लांट का लोकार्पण किया। फिर काशी में गंगा घाटों पर शिवनगरी की सांस्कृतिक विविधता और पं. दीनदयाल हस्तकला संकुल में बनारस के विशिष्ट हस्तशिल्प से रुबरू हुए।

 

काशी में मोदी-मैक्रों: दुल्हन की तरह सजा बाबतपुर 

    [object object] इमैनुअल मैक्रों के काशी में आने से और गहरी हुई भारत-फ्रांस की दोस्ती Capture 2 300x186इमैनुएल मैक्रों के साथ उनकी पत्नी ब्रिगेटी मैक्रों भी थीं। अपने संसदीय क्षेत्र की यात्रा के दौरान मोदी ने काशीवासियों को 792 करोड़ की परियोजनाओं का तोहफा भी दिया। इनमें बहुप्रतीक्षित मंडुवाडीह पुल का उद्घाटन व पटना तक इंटरसिटी एक्सप्रेस को हरी झंडी दिखाना भी शामिल है। मोदी ने 12 महिलाओं को उनके घरों की चाबी भी सौंपी। 

       पीएम मोदी के साथ काशी आये फ्रांस के राष्ट्रपति एवं उनकी पत्नी का शहर ने भव्य स्वागत किया। स्वागत में जनसामान्य के अलावा कई स्कूलों के सैकड़ों बच्चे भी शामिल थे। काशी में करीब 35 किमी की भ्रमण-यात्रा के दौरान मोदी-मैक्रों के कानों में हर-हर महादेव का उद्घोष गूंजता रहा, गुलाब की सुगंधित पंखुड़ियों की वर्षा होती रही।  गंगा में आधे घंटे के नौकायन के दौरान मैक्रों काशी की कला, संगीत, अध्यात्म, साहित्य से जुड़ी विरासत देख मुग्ध दिखे।

     इस दौरान प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी उनके लिए गाइड की भूमिका में दिखे। वह मैक्रों को काशी, गंगा घाटों एवं यहां की बहुआयमी संस्कृति का परिचय देते रहे। जिन घाटों से मोदी-मैक्रों गुजरे, वहां हर-हर महादेव का उद्घोष और दोनों देशों के लहराते ध्वज भारत-फ्रांस की मित्रता की नई इबारत लिख रहे थे। अपने स्वागत से अभिभूत मैक्रों भी भारतीय परम्परा के अनुसार कई बार हाथ जोड़कर बनारस की जनता का अभिवादन करते दिखे। 

     इसके पहले पीएम मोदी के साथ राष्ट्रपति मैक्रों बड़ा लालपुर स्थित पं. दीनदयाल हस्तकला संकुल पहुंचे। यहां उन्होंने दुनिया में धाक जमाने वाले बनारसी साड़ी एवं हस्तशिल्प के कई अलग-अलग रूप देखे।  गुलाबी मीनाकारी की हुनरमंदी ने मैक्रों और ब्रिगेटी को काफी प्रभावित किया। यहां उन्होंने रामचरित मानस के प्रमुख प्रसंगों पर आधारित नृत्य नाटिका चित्रकूट का मंचन भी देखा। बाद में होटल गेटवे में दोनों दिग्गज हस्तियों ने एक साथ लंच किया। इस दौरान भारत-फ्रांस के रिश्तों को वैश्विक स्तर पर और मजबूती देने की चर्चा भी हुई।

View image on Twitter [object object] इमैनुअल मैक्रों के काशी में आने से और गहरी हुई भारत-फ्रांस की दोस्ती DYFtITrW0AA6G Z format jpg name 360x360

काशी की विरासत देख मुग्ध हुए मैक्रों

View image on Twitter [object object] इमैनुअल मैक्रों के काशी में आने से और गहरी हुई भारत-फ्रांस की दोस्ती DYFtITqX0AAfejM format jpg name 360x360View image on Twitter [object object] इमैनुअल मैक्रों के काशी में आने से और गहरी हुई भारत-फ्रांस की दोस्ती DYFtITqWkAAbx6e format jpg name 360x360
 
 

एयरपोर्ट पर पीएम ने स्वागत किया
     सोमवार सुबह 10.25 बजे पीएम मोदी सेना के विशेष विमान से बाबतपुर एयरपोर्ट पहुंचे। करीब दस मिनट बाद दूसरे विमान से फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों अपनी पत्नी बिग्रेटी मैक्रों के साथ पहुंचे। प्रधानमंत्री ने मैक्रों को गले लगाकर अपने संसदीय क्षेत्र की धरती पर गर्मजोशी से स्वागत किया। इस दौरान सूबे के राज्यपाल राम नाईक और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी मौजूद थे। यहां से दोनों नेता हेलीकाप्टर से मिर्जापुर गए और वहां उत्तर प्रदेश के सबसे बड़े सोलर एनर्जी पॉवर प्लांट का शुभारंभ किया। 

काशी को 792 करोड़ का तोहफा
   12वीं बार अपने संसदीय क्षेत्र पहुंचे प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने काशीवासियों को 792 करोड़ का तोहफा दिया। इस दौरान आधा दर्जन परियोजनाओं का लोकार्पण एवं डेढ़ दर्जन परियोजनाओं का शिलान्यास किया। डीरेका में आयोजित महिलाओं के साथ संवाद कार्यक्रम में 13 हजार गरीब परिवारों को प्रधानमंत्री आवास योजना का प्रमाणपत्र सौंपा। साथ ही वाराणसी-पटना इंटरसिटी टे्रन को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। 

   560 करोड़ खर्च हुये हैं सोलर प्लांट पर 
     मिर्जापुर के दादरकला गांव में सोमवार को फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों और प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने 75 मेगावाट के जिस सोलर प्लांट का लोकार्पण किया, उसके निर्माण पर 560 करोड़ रुपये खर्च हुए हैं। फ्रांस के सहयोग से तैयार यह प्लांट यूपी का पहला व सबसे बड़ा सोलर प्लांट है। यहां से 5 लाख यूनिट बिजली का प्रतिदिन उत्पादन होगा। इससे डेढ़ लाख परिवारों को बिजली मिलेगी। 382 एकड़ में इस प्लांट को तैयार करने में 18 महीने लगे। इस सोलर प्लांट से बिजली जिगना के 132 केवी पावर हाउस को सप्लाई की जाएगी।

About Arun Kumar Singh

Check Also

[object object] अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष (आईएमएफ)ने कहा- भारत है दुनिया की छठी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था ppppp 310x165

अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष (आईएमएफ)ने कहा- भारत है दुनिया की छठी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था

    अप्रैल 2018 में जारी हुए अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष (आईएमएफ) के वर्ल्ड इकॉनोमिक आउटलुक …

Leave a Reply

Copyright © 2017, All Right Reversed.