Wednesday , October 23 2019 [ 4:42 PM ]
Breaking News
Home / अंतरराष्ट्रीय / जिनसे खुद का देश नहीं संभल रहा उन्हें 370 हटने से दिक्कत हो रही है-अमेरिका में दहाड़े पीएम नरेंद्र मोदी
जिनसे खुद का देश नहीं संभल रहा उन्हें 370 हटने से दिक्कत हो रही है-अमेरिका में दहाड़े पीएम नरेंद्र मोदी Capture 11 508x330

जिनसे खुद का देश नहीं संभल रहा उन्हें 370 हटने से दिक्कत हो रही है-अमेरिका में दहाड़े पीएम नरेंद्र मोदी

जिनसे खुद का देश नहीं संभल रहा उन्हें 370 हटने से दिक्कत हो रही है-अमेरिका में दहाड़े पीएम नरेंद्र मोदी Capture 11

ह्यूस्टन। #HowdyModi कार्यक्रम में पीएम नरेंद्र मोदी ने भारत में हो रहे विकास कार्यों के साथ-साथ कश्मीर का भी जिक्र किया। पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा कि भारत ने एक नई चुनौती को भी ‘फेयरवेल’ दिया है, यह विषय है अनुच्छेद 370 को खत्म करना। इस दौरान उन्होंने पाकिस्तान का नाम लिए बिना उसपर निशाना भी साधा।

PM Modi: Some people have a problem with abrogation of article 370, these are same people who cant govern their own country properly. These are the same people who shield terrorism and nurture it. Whole world knows them very well. pic.twitter.com/IVA5CCb7zF

— ANI (@ANI) September 22, 2019

अपने भाषण में पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा कि तेज विकास का प्रयास कर रहे किसी भी देश में, अपने नागरिकों के लिए वेलफेयर स्कीम्स आवश्यक होती है। जरूरतमंद नागरिकों के लिए वेलफेयर स्कीम चलाने के साथ-साथ नए भारत के निर्माण के लिए कुछ चीजों को फेयरवेल भी दिया जा रहा है।

आर्टिकल 370 को दिया फेयरवेल – पीएम मोदी

उन्होंने कहा कि देश के सामने 70 साल से एक और बड़ा चैलेंज था जिसे कुछ दिन पहले भारत ने फेयरवेल दे दिया है। आर्टिकल 370 ने जम्मू-कश्मीर और लद्दाख के लोगों को विकास से और समान अधिकारों से वंचित रखा था। इस स्थिति का लाभ आतंकवाद और अलगाववाद बढ़ाने वाली ताकतें उठा रहीं थीं। अब भारत के संविधान ने जो अधिकार बाकी भारतीयों को दिए हैं, वहीं अधिकार जम्मू-कश्मीर और लद्दाख के लोगों को मिल गए हैं।

पाकिस्तान का नाम लिए बिना साधा निशाना

पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा कि भारत अपने यहां जो कर रहा है, उससे कुछ ऐसे लोगों को भी दिक्कत हो रही है, जिनसे खुद अपना देश नहीं संभल रहा। इन लोगों ने भारत के प्रति नभरत को ही अपनी राजनीति का केंद्र बना दिया है। ये वो लोगो हैं जो अशांति चाहते हैं, आतंक के समर्थक हैं, आतंक को पालते-पोसते हैं। उनकी पहचान आप भी अच्छी जानते हैं। अमेरिका में 9/11 हो या मुंबई में 26/11, उसके साजिशकर्ता कहां पाए जाते है?

‘आतंकवाद के खिलाफ ट्रंप के साथ खड़े हैं’

अब समय आ गया है कि आतंकवाद के खिलाफ और आतंकवाद को बढ़ावा देने वालों के खिलाफ निर्णायक लड़ाई लड़ी जाए। मैं यहां पर जोर देकर कहना चाहूंगा कि इस लड़ाई में प्रेसिडेंट ट्रंप पूरी मजबूती के साथ आतंक के खिलाफ खड़े हुए हैं।भारत मे बहुत कुछ हो रहा है – पीएम नरेंद्र मोदी

पीएम मोदी ने कहा भारत में बहुत कुछ हो रहा है, बहुत कुछ बदल रहा है और बहुत कुछ करने के इरादे लेकर हम चल रहे हैं। हमने नए challanges तय करने की, उन्हें पूरा करने की एक जिद ठान रखी है। इस दौरान पीएम मोदी  ने खुद की लिखी दो पंक्तिया भी सुनाईं।उन्होंने कहा…वो जो मुश्किलों का अंबार है, वही तो मेरे हौसलों की मिनार है।

‘तेज गति से आगे बढ़ना चाहता है भारत’

पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा कि आज भारत पहले के मुकाबले और तेज गति से आगे बढ़ना चाहता है। भारत कुछ लोगों की इस सोच को चुनौती दे रहा है, जिनकी सोच है कि कुछ बदल ही नहीं सकता। बीते पांच सालों में 130 करोड़ भारतीयों ने हर क्षेत्र में ऐसे नतीजे हासिल किए हैं जिनकी पहले कोई कल्पना भी नहीं कर सकता था।

खुद से मुकाबला कर रहे हैं हम– पीएम मोदी

उन्होंने कहा, ‘‘हम किसी दूसरे से नहीं बल्कि खुद से मुकाबला कर रहे हैं । हम अपने को बदल रहे हैं क्योंकि भारत में ‘विकास’ आज सबसे चर्चित शब्द बन गया है । धैर्य हम भारतीयों की पहचान है लेकिन अब हम विकास के लिये अधीर हैं।’’ उन्होंने कहा, ‘‘हम बड़ा लक्ष्य रखते हैं और बड़ी उपलब्धि हासिल कर रहे हैं।’’

भ्रष्टाचार के खिलाफ उठाए कदमों का भी जिक्र किया

उन्होंने सरकार की जन कल्याण योजनाओं एवं भ्रष्टाचार के खिलाफ सरकार की ओर से उठाये गए कदमों का उल्लेख भी किया। उन्होंने 2 अक्तूबर को महात्मा गांधी की जयंती पर देश के खुले में शौच से मुक्त होने के लक्ष्य को हासिल करने का भी जिक्र किया। प्रधानमंत्री ने कहा कि एक भी भारतीय विकास के लाभ से वंचित रहे, यह भी भारत को मंजूर नहीं है। विकास का लाभ समाज के सभी वर्गों को मिलना चाहिए।

‘सबका साथ-सबका विकास, भारत की सबसे बड़ी नीति’

पीएम मोदी ने कहा कि सबसे बड़ा मंत्र है- सबका साथ-सबका विकास, भारत की सबसे बड़ी नीति है- जन भागीदारी, भारत का सबसे प्रचलित नारा है- संकल्प से सिद्धि और भारत का सबसे बड़ा संकल्प है- न्यू इंडिया। प्रधानमंत्री ने कहा, ‘‘अलग-अलग पंथ, संप्रदाय, सैकड़ों तरह का अलग-अलग क्षेत्रीय खान-पान, अलग-अलग वेशभूषा और अलग-अलग मौसम एवं ऋतु चक्र भारत को अद्भुत बनाते हैं।

About Arun Kumar Singh

Check Also

नवरात्रि के चौथा दिन ! करें मां कुष्मांडा की पूजा, ये है मंत्र और महत्व              310x165

नवरात्रि के चौथा दिन ! करें मां कुष्मांडा की पूजा, ये है मंत्र और महत्व

नवरात्र का आज चौथा दिन है। देवीभागवत पुराण के अनुसार इस दिन देवी के चौथे …

Leave a Reply

Copyright © 2017, All Right Reversed.