Thursday , June 21 2018 [ 2:23 AM ]
Breaking News
Home / स्वास्थ्य / दांतों को खराब नहीं होने देंगे अंगूर के बीज, चमक भी रखताहै बरकरार

दांतों को खराब नहीं होने देंगे अंगूर के बीज, चमक भी रखताहै बरकरार

दांतों को खराब नहीं होने देंगे अंगूर के बीज, चमक भी रखताहै बरकरार garpes 1497108043    अंगूर के बीजों की मदद से दांतों को सड़ने से रोका जा सकता है। एक नए अध्ययन से पता चला है कि अंगूर के बीज में पाया जाने वाला तत्व दांतों को सुरक्षित रखने वाले ऊतकों को मजबूती प्रदान करता है।  शोधकर्ताओं के अनुसार, अंगूर के बीज में एक तत्व मौजूद रहता है। यह तत्व दांत के ऊपरी सतह पर चमक कायम करने वाली परत के ऊतकों को मजबूती देने में सहायक है। इन ऊतकों को डेंटिन कहते हैं, जिनके बरकरार रहने से दांतों का क्षरण नहीं होता। डेंटिन दांतों की बाहरी सतह पर होता है। 

भराई में मददगार :
     उन्होंने कहा, यह तत्व दांतों की भराई में इस्तेमाल किए जाने वाले रेजिन को मजबूत बनाता है जिससे वह काफी लंबे समय तक टिकता है और दांतों का नुकसान नहीं होने देता। दांतों में खोखल होने पर रेजिन की भराई (रेजिन फिलिंग) की जाती है। यह दांत के रंग का एक मिश्रण होता है जो प्लास्टिक और शीशा को मिलाकर तैयार किया जाता है। दांतों का रंग और आकार ठीक करने में भी इसका इस्तेमाल किया जाता है।  

क्षरण रोकने में कारगर : 
       शिकागो स्थित इलिनोइस यूनिवर्सिटी के प्रोफेसर बेड्रैन-रूसो ने कहा, अंगूर के बीज में पाए जाने वाले तत्व के इस्तेमाल के संभावित लाभों में दांतों का क्षरण रोकना शामिल है। उन्होंने कहा, डेंटिन मुख्य रूप से कोलेजन से बना होता है। कोलेजन त्वचा और अन्य संयोजी ऊतकों के निर्माण में लगने वाला मुख्य प्रोटीन है। रेजिन डेंटिन को बांधते हैं। लेकिन दो रेजिन के बीच का अंतराल एक कमजोर जगह होती है, जिससे दांतों का क्षरण फिर से शुरू हो सकता है।   

पूरी तरह कुदरती :
       शोधकर्ताओं ने कहा, अंगूर के बीज में मौजूद तत्व पूरी तरह कुदरती है। उन्होंने पाया कि यह तत्व और अधिकतर आहार और सब्जियों में पाए जाने वाले फ्लेवोनायड का संयोजन कोलेजन में हुई क्षति को ठीक कर सकता है। फ्लेवोनायड वनस्पतियों में पाए जाने वाले कुदरती रंजक हैं, जिनकी संरचना फ्लेवॉन के समान होती है। फ्लेवॉन एक तरह का रंगहीन ठोस यौगिक होता है जिसमें बड़ी तादाद में सफेद या पीले पादप वर्णक होते हैं। उन्होंने कहा, रेजिन और कोलेजन से भरपूर डेंटिन का जुड़ाव काफी मजबूत हो जाता है। उस पर नमी का कोई असर नहीं पड़ता। 

      शोधकर्ताओं ने कहा, जब दांतों की भराई नाकाम हो जाती है तब उसके इर्दगिर्द क्षरण शुरू हो जाता है। बेड्रैन-रूसो ने कहा, हमारे अध्ययन से स्पष्ट हुआ कि नई कुदरती वस्तु का इस्तेमाल कर हम डेंटिन के लिए रेजिन का अपेक्षाकृत बेहतर बंधन बना सकते हैं, जिससे दांतों को मजबूती दी जा सकेगी। 
यह अध्ययन जर्नल ऑफ डेंटल रिसर्च में प्रकाशित हुआ है। 

Grape seeds keep glowing teeth even if teeth do not worsen

About Arun Kumar Singh

Check Also

किस बीमारी में कौनसा ज्यूस लाभदायक होगा क्या आप जानते है,शायद नहीं|  download 3 272x165

किस बीमारी में कौनसा ज्यूस लाभदायक होगा क्या आप जानते है,शायद नहीं| 

आम धारणा है कि बीमार होने पर ज्यूस पीना चाहिए। लेकिन *किस बीमारी में कौनसा …

Leave a Reply

Copyright © 2017, All Right Reversed.