Saturday , July 20 2019 [ 1:53 PM ]
Breaking News
Home / अन्य / सरकार ने सिंगल ब्रांड रीटेल में 100% और एयर इंडिया में 49% एफडीआई को दी मंजूरी
सरकार ने सिंगल ब्रांड रीटेल में 100% और एयर इंडिया में 49% एफडीआई को दी मंजूरी fdi 584x330

सरकार ने सिंगल ब्रांड रीटेल में 100% और एयर इंडिया में 49% एफडीआई को दी मंजूरी

नई दिल्‍ली.   केंद्र सरकार ने आम बजट से ठीक पहले बुधवार को फॉरेन डायरेक्ट इन्वेस्टमेंट (एफडीआई) को लेकर बड़े फैसले लिए। सिंगल ब्रैंड रीटेल, कंस्ट्रक्शन सेक्टर में ऑटोमेटिक रूट से 100% के साथ एयर इंडिया में 49% एफडीआई को मंजूरी दे दी है । 

सरकार ने सिंगल ब्रांड रीटेल में 100% और एयर इंडिया में 49% एफडीआई को दी मंजूरी fdi 300x223ट्रेड बॉडी ने किया फैसले का विरोध 

सरकार ने किन-किन सेक्टर्स में मंजूरी दी? 

 

1) सिंगल ब्रांड रिटेल में 100% एफडीआई 

–  कैबिनेट ने बुधवार को सिंगल ब्रांड रिटेल में 100% एफडीआई को ऑटोमैटिक रूट से मंजूरी दी। सरकार ने 2014 में ही सिंगल ब्रांड रिटेल में 100  % एफडीआई को मंजूरी दे दी थी। हालांकि इसके लिए सरकार से मंजूरी लेनी होती थी। इसके बाद विदेशी रिटेल कंपनियां जैसे आईकिया और नाइकी ने भारत के बाजार में एंट्री की थी। 

– अब सिंगल ब्रांड रिटेल में ऑटोमैटिक रूट से100% एफडीआई का मतलब है कि अब विदेशी कंपनियों को क्लीरिएंस की प्रोसेस से नहीं गुजरना होगा। 

ट्रेड बॉडी ने किया फैसले का विरोध 

वहीं ट्रेड बॉडी कंफेडरेशन ऑफ आल इंडिया ट्रेडर्स (सीएआईटी) ने सिंगल ब्रांड रिटेल में ऑटोमैटिक रूट से 100 फीसदी एफडीआई को मंजूरी देने के फैसले का विरोध किया है। सीएआईटी का कहना है कि सरकार के इस कदम से मल्‍टी नेशनल कंपनियों को भारत में रिटेल कारोबार में आसानी से एंट्री मिलेगी। 

2) एयर इंडिया में 49% एफडीआई

– कैबिनेट ने एयर इंडिया में 49% एफडीआई के  प्रपोजल को अप्रूवल रूट से मंजूरी दी। 

– सरकार एयर इंडिया को घाटे से उबारने के लिए डिसइन्वेस्टमेंट की प्लानिंग पर काम कर रही थी।

 

– मौजूदा समय में एयर इंडिया पर कुल 52,000 करोड़ रुपए का कर्ज है। इसमें 22,000 करोड़ रुपए एयरक्राफ्ट लोन है बाकी वर्किग कैपिटल लोन और दूसरी लायबलिटिीज हैं। 

 

– यूपीए सरकार एयर इंडिया को पहले ही 10 साल के लिए बेलआउट पैकेज दे चुकी है। इसके तहत एयर इंडिया को 30,213 करोड़ रुपए मिलने थे। इसके लिए शर्त एयरइंडिया के लिए अपने प्रदर्शन में सुधार करने की शर्त रखी गई थी। हालांकि अब तक एयर इंडिया का प्रदर्शन तय मानकों के अनुरूप नहीं है। 

 

3)  कंस्‍ट्रक्‍शन में 100% एफडीआई

– कैबिनेट कैबिनेट ने क्‍लैरी‍फाई किया है कि रीयल एस्‍टेट ब्रोकिंग सर्विस रीयल एस्‍टेट बिजनेस में नहीं आता है ऐसे में रीयल एस्‍टेट ब्रोकिंग सर्विस में ऑटोमैटिक रूट से 100 फीसदी एफडीआई को इजाजत दी जाती है। 

 

इस फैसले का शेयर बाजार पर क्या असर हुआ? 

– एविएशन कंपनियों के शेयरों में 3%  तक की तेजी दिखी। इंडिगो का शेयर 1.12% और जेट एयरवेज के शेयर में 2.25% का उछाल दिखा। हालांकि स्पाइसजेट में 1.60% की गिरावट रही।

– वहीं, रियल्टी शेयरों में भी तेजी देखने को मिली है। निफ्टी रियल्टी इंडेक्स 0.51% बढ़ा है। गोदरेज प्रोपर्टीज में 3.16%, ओबेरॉय रियल्टी में 3.05%, एचडीआईएल में 1.48% और इंडियाबुल्स रियल्ट एस्टेट में 0.87% की बढ़त नजर आई।

About Arun Kumar Singh

Check Also

छह प्रधानमंत्रियों के साथ काम कर चुके एक मंझे हुए राजनेता हैं रामविलास पासवान Capture 21 310x165

छह प्रधानमंत्रियों के साथ काम कर चुके एक मंझे हुए राजनेता हैं रामविलास पासवान

रामविलास पासवान के राजनीतिक सफर की शुरुआत 1960 के दशक में बिहार विधानसभा के सदस्य …

Leave a Reply

Copyright © 2017, All Right Reversed.