Sunday , December 16 2018 [ 11:44 PM ]
Breaking News
Home / अन्य / RSS के कार्यक्रम में जाने को लेकर पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने तोड़ी चुप्पी, कही ये बाते…..
[object object] RSS के कार्यक्रम में जाने को लेकर पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने तोड़ी चुप्पी, कही ये बाते…..        509x330

RSS के कार्यक्रम में जाने को लेकर पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने तोड़ी चुप्पी, कही ये बाते…..

   आगामी 7 जून को नागपुर में होने वाले आरएसएस के कार्यक्रम में पूर्व राष्ट्रपति के शामिल होने को लेकर राजनीतिक उथल-पुथल के बीच खुद पूर्व राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी ने इसे लेकर चुप्पी तोड़ दी है। उन्हें इससे पहले अपने फैसले पर दोबारा विचार करने के कई सुझाव मिले थे।

   नई दिल्ली : पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के कार्यक्रम में जाने को लेकर अपनी चुप्पी तोड़ी है। नागपुर में मुखर्जी 7 जून को होने वाले आरएसएस के कार्यक्रम में शामिल होने जा रहे हैं। उन्होंने बंगाली अखबार आनंद बाजार पत्रिका से इस बारे में बातचीत की। उन्होंने कहा कि इस बारे में वह नागपुर में बात करेंगे। आनंद बाजार पत्रिका के अनुसार प्रणब मुखर्जी ने कहा, ‘मुझे जो कुछ भी कहना है, वह मैं नागपुर में कहूंगा।’ 

    [object object] RSS के कार्यक्रम में जाने को लेकर पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने तोड़ी चुप्पी, कही ये बाते…..        300x223दैनिक की ओर से यह भी बताया गया कि कार्यक्रम को लेकर पूर्व राष्ट्रपति को कई पत्र और फोन भी आए लेकिन उन्होंने किसी का भी जवाब नहीं दिया है। वरिष्ठ कांग्रेस नेता प्रणब मुखर्जी के आरएसएस कार्यक्रम में आने का निमंत्रण स्वीकार करने के बाद देश के राजनीतिक माहौल में उथल-पुथल देखने को मिली थी। 

कई कांग्रेस नेताओं ने प्रणब मुखर्जी से आरएसएस के कार्यक्रम में जाने के उनके फैसले पर दोबारा विचार करने की बात कही थी। इस बारे में जयराम रमेश, सीके जफर शरीफ जैसे कई कांग्रेसी नेताओं ने इस बारे में प्रणब मुखर्जी को चिट्ठी लिखी थी। केरल में विपक्ष के नेता रमेश चेन्नीथला ने इस बारे में पूर्व राष्ट्रपति को लिखा था कि उनके इस फैसले से धर्म फ़ाइल फोटो (साभारPTI)

निरपेक्ष सोच वाले लोगों को आघात लग सकता है।

उपराष्ट्रपति नायडू बोले,गांधी जी ने भी संघ की अहमियत को माना था, प्रणब दा को लेकर न हो राजनीति

साथ ही उन्होंने इस फैसले को बदलने के लिए कहा था। चेन्नीवाला के अनुसार आरएसएस पर भारत को हिंदु राष्ट्र बनाना चाहती है और यह विचारधारा कांग्रेस की लोकतांत्रिक और धर्म निरपेक्ष विचारधारा के खिलाफ है। बता दें कि देश के पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी महाराष्ट्र के नागपुर में 7  जून को तृतीय वर्ग वर्ष कार्यक्रम को संबोधित करेंगे। 

Former President Pranab Mukherjee was silent about going to the RSS program, he said.

 

About Arun Kumar Singh

Check Also

राफेल मुद्दे पर जेटली ने जेपीसी गठन को किया खारिज, कहा- जारी है कांग्रेस का दुष्‍प्रचार              310x165

राफेल मुद्दे पर जेटली ने जेपीसी गठन को किया खारिज, कहा- जारी है कांग्रेस का दुष्‍प्रचार

नई दिल्ली: वित्त मंत्री अरुण जेटली ने फ्रांस से राफेल लड़ाकू विमानों की खरीद के सौदे की जांच …

Leave a Reply

Copyright © 2017, All Right Reversed.