Friday , April 19 2019 [ 10:06 AM ]
Breaking News
Home / अन्य / नक्सलियों ने मांगा पांच करोड़ रुपये, नहीं देने पर कनहर बांध का काम बंद करने की धमकी
नक्सलियों ने मांगा पांच करोड़ रुपये, नहीं देने पर कनहर बांध का काम बंद करने की धमकी Capture 9

नक्सलियों ने मांगा पांच करोड़ रुपये, नहीं देने पर कनहर बांध का काम बंद करने की धमकी

सोनभद्र, सोनू सिंह । पांच करोड़ रुपये देने के बाद ही कनहर सिंचाई परियोजना का काम होने दिया जाएगा। यदि नौ अप्रैल तक रुपये नहीं दिए तो इसका भारी खामियाज भुगतना पड़ेगा। इसी तरह लिखा हुआ एक पत्र कनहर डूब क्षेत्र के प्रमुख गांव सुंदरी के महिला ग्राम प्रधान के घर के सामने टंगा मिलने से समूचे इलाके में सनसनी फैल गई है।

नक्सलियों ने मांगा पांच करोड़ रुपये, नहीं देने पर कनहर बांध का काम बंद करने की धमकी Capture 9

बहरहाल प्रधान पति पूरे दिन चिंतित रहने के बाद शाम को पुलिस से मामले को अवगत कराते हुए संबंधित लोगों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है।  प्रधानपति फणीश्वर जायसवाल ने बताया कि रविवार की सुबह अनिता देवी ग्राम प्रधान के नाम से एक पत्र हमारे सुंदरी स्थित मकान पर लिफाफे में बंद करके बाहर दीवार पर टांगा गया था। जिसको हमारे वृद्ध पिता ने खोलकर पढ़ा। बताया कि मैं दुद्धी स्थित मकान पर था। इसके बाद पिताजी ने उन्हें मोबाइल से जानकारी दी। घबराए हुए वह घर जाकर पत्र को देखे। देखा तो उसमें लाल पेन से तीन हैड राइटिंग से लिखा हुआ था कि विस्थापितों की प्रमुख समस्याओं का निदान अभी तक नहीं हुआ है। प्रारूप 6 व 11 के विस्थापितों के नामों को अभी तक सूची में नहीं जोड़ा गया है।

पांच एकड़ जमीन एवं बेरोजगारों को नौकरी नहीं दी गई और कनहर परियोजना का निर्माण कार्य चल रहा है, जो बंद होना चाहिए। पत्र में डूब क्षेत्र में हो रही ब्लास्टिंग, बालू व पत्थर के उठान का जिक्र किया गया है। इसके साथ ही ग्राम प्रधान सुंदरी, कार्यदाई संस्था के असिस्टेंट वाइस प्रेसीडेंट व अधिशाषी अभियंता कनहर को धमकी देते हुए लिखा गया है कि नौ अप्रैल तक कनहर परियोजना का काम बंद नहीं हुआ तो वहां भारी जानमाल का खतरा होगा। हमारी संख्या 5000 है और एक को 10 हजार मिलता है।

इस हिसाब से कुल पांच करोड़ रुपये चाहिए। भयभीत ग्राम प्रधानपति ने बताया कि इसके चार दिन पूर्व एक मोबाइल नंबर से फोन पर कनहर परियोजना का निर्माण कार्य रोकने की धमकी दी गई थी। इसे नक्सलियों का पत्र मानते गांव के साथ ही परिवार के लोग दहशत में हैं। हालांकि दुद्धी कोतवाली के प्रभारी अशोक सिंह ने बताया कि पत्र मिला है। उसकी जांच पड़ताल की जा रही है। इसके पूर्व ग्राम प्रधान द्वारा किसी भी धमकी की शिकायत नहीं की गई थी। इस मामले की गंभीरता से जांच की जा रही है।

About Arun Kumar Singh

Check Also

लोकतंत्र के महापर्व यानि लोकसभा चुनाव 2019: दूसरे फेज की वोटिंग में करीब 66 फीसदी वोट पड़े Capture 14 298x165

लोकतंत्र के महापर्व यानि लोकसभा चुनाव 2019: दूसरे फेज की वोटिंग में करीब 66 फीसदी वोट पड़े

लोकतंत्र के महापर्व यानि लोकसभा चुनाव के लिए 18 अप्रैल को दूसरे चरण का मतदान …

Leave a Reply

Copyright © 2017, All Right Reversed.