Monday , July 16 2018 [ 9:58 PM ]
Breaking News
Home / अन्य / अमरनाथ यात्रा: सुरक्षा इंतजामों के बीच,जम्मू बेस कैंप से रवाना हुआ पहला जत्था
[object object] अमरनाथ यात्रा: सुरक्षा इंतजामों के बीच,जम्मू बेस कैंप से रवाना हुआ पहला जत्था Capture 6 653x330

अमरनाथ यात्रा: सुरक्षा इंतजामों के बीच,जम्मू बेस कैंप से रवाना हुआ पहला जत्था

अमरनाथ यात्रा शुरू हो चुकी है। बुधवार सुबह जम्मू बैंस कैंप से यात्रा का पहला जत्था रवाना किया गया। इस बार सुरक्षा के पहले से भी कड़े इंतजाम किए गए हैं। इस बार करीब दो लाख श्रद्धालुओं ने अमरनाथ गुफा की यात्रा के लिए पंजीकरण कराया है।

  [object object] अमरनाथ यात्रा: सुरक्षा इंतजामों के बीच,जम्मू बेस कैंप से रवाना हुआ पहला जत्था download 1 2 [object object] अमरनाथ यात्रा: सुरक्षा इंतजामों के बीच,जम्मू बेस कैंप से रवाना हुआ पहला जत्था Capture 6 300x159 

    जम्मू: विशेष संवाददाता –अमरनाथ यात्रा के लिए पहला बैच बुधवार सुबह जम्मू बेस कैंप से रवाना हो गया। इस यात्रा को जम्मू-कश्मीर के राज्यपाल के सलाहकार बीबी व्यास, विजय कुमार और जम्मू-कश्मीर के मुख्य सचिव बीवीआर सुब्रमण्यम ने झंडा दिखाकर रवाना किया। सुरक्षा के भारी इंतजामों के बीच ये जत्था रवाना हुआ है। जम्मू के बेस शिविर में भक्त इकट्ठे हुए, जिसके बाद उन्हें रवाना किया। यात्रा के लिए किए गए सुरक्षा के इंतजामों पर भक्तों ने संतुष्टि जताई है। देशभर से करीब दो लाख श्रद्धालुओं ने दक्षिण कश्मीर हिमालय में स्थित अमरनाथ गुफा की यात्रा के लिए पंजीकरण कराया है।

     जम्मू से रवाना हुआ श्रद्धालुओं का पहला जत्था उधमपुर पहुंचा, जहां उनका स्वागत स्थानीय लोगों और जिला प्रशासन के अधिकारियों ने किया। यहां पहुंचे तीर्थयात्रियों ने कहा कि हम व्यवस्था और सुरक्षा से खुश हैं। यात्रा का समापन 26 अगस्त को होगा। पिछले वर्ष कुल 2.60 लाख तीर्थयात्रियों ने पवित्र गुफा के दर्शन किये थे।

 (प्रतीतात्मक तश्वीर )

first-batch-of-amarnath-yatra-has-been-flagged-off-from-jammu-base-camp-all-security-arrangements-have-been-made

    पहले जत्थे के रवाना होने के मौके पर जम्मू-कश्मीर के गवर्नर के सलाहकार, विजय कुमार ने कहा, अमरनाथ यात्रा एक बहुत ही महत्वपूर्ण वार्षिक अवसर है। जनता के सहयोग से, सभी सुरक्षा एजेंसियों और विकास एजेंसियों ने एक योजना बनाई है और यात्रियों की चिंताओं को दूर करने और यातायात के आसान प्रवाह को सुनिश्चित करने के लिए पूरी कोशिश कर रहे हैं

   वहीं जम्मू सेक्टर के आईजी सीआरपीएफ ने भी कहा, ‘सभी सुरक्षा व्यवस्था की गई है। हम नवीनतम तकनीक और वाहनों का उपयोग कर रहे हैं, पिछले साल की तुलना में जनशक्ति में वृद्धि हुई है। कोई विशिष्ट तरह का खतरा नहीं है, लेकिन हम किसी भी तरह के हमले के लिए तैयार हैं।’ जबकि यात्रियों का कहना है कि हम बहुत खुश हैं कि हम अमरनाथ यात्रा के लिए जा रहे हैं। हमें यहां कुछ भी डर नहीं है। सभी सुरक्षा व्यवस्था दुरुस्त हैं। हर साल सुरक्षा में सुधार होते हैं। 

   यात्रियों का पहला जत्था कश्मीर के दो आधार शिविरों बालटाल और पहलगाम के लिए रवाना होगा। पहली बार इस बार अमरनाथ जाने वाले वाहनों में रेडियो फ्रीक्वेंसी टैग का इस्तेमाल किया जाएगा और सीआरपीएफ का मोटरसाइकिल दस्ता भी सक्रिय रहेगा। 

   अधिकारियों ने बताया कि आधार शिविरों, मंदिरों, रेलवे स्टेशनों, बस स्टैंडों और अन्य भीड़भाड़ वाले स्थानों के आसपास सुरक्षा व्यवस्था कड़ी कर दी गई है। इस वर्ष सरकार ने अमरनाथ यात्रियों के प्रत्येक वाहन की निगरानी रेडियो फ्रीक्वेंसी टैग से करने का निर्णय किया है। इसके साथ ही तीर्थयात्रियों द्वारा लिये गए प्रीपेड मोबाइल नम्बरों की वैधता भी सात दिन से बढ़ाकर 10 दिन कर दी गई है। अधिकारियों ने बताया कि इस वर्ष की तीर्थयात्रा के लिए जम्मू कश्मीर पुलिस, अर्धसैनिक बल, एनडीआरएफ और सेना से करीब 40 हजार सुरक्षाकर्मियों की तैनाती की गई है।

About Arun Kumar Singh

Check Also

[object object] पुनरुद्धार से पांवधोई नदी अपने वास्तविक स्वरूप को प्राप्त करेगी,  इसके तल का क्षेत्रफल बढ़ेगा तथा जल की मात्रा में वृद्धि होगी                    310x165

पुनरुद्धार से पांवधोई नदी अपने वास्तविक स्वरूप को प्राप्त करेगी, इसके तल का क्षेत्रफल बढ़ेगा तथा जल की मात्रा में वृद्धि होगी

    नदी के प्रथम भाग उद्गम स्थल शंकलापुरी मन्दिर से बाबा लालदास के बाड़े …

Leave a Reply

Copyright © 2017, All Right Reversed.