Friday , April 19 2019 [ 10:18 AM ]
Breaking News
Home / अन्य / CSDS सर्वे: हिंदू-मुस्लिम की दोस्ती का ये आंकड़ा चौंका देगा आपको
CSDS सर्वे: हिंदू-मुस्लिम की दोस्ती का ये आंकड़ा चौंका देगा आपको frindship 05 04 2017 1491384212 storyimage

CSDS सर्वे: हिंदू-मुस्लिम की दोस्ती का ये आंकड़ा चौंका देगा आपको

  CSDS सर्वे: हिंदू-मुस्लिम की दोस्ती का ये आंकड़ा चौंका देगा आपको  CSDS सर्वे: हिंदू-मुस्लिम की दोस्ती का ये आंकड़ा चौंका देगा आपको frindship 05 04 2017 1491384212 storyimage    वो कहते हैं ना कि दोस्ती कभी जात या बिरादरी देखकर नहीं होती है, लेकिन आजकल आलम कुछ और ही है। हाल ही की एक सर्वे रिपोर्ट में ये बात सामने आई है कि अब हम जाति देखकर दोस्ती करने लगे हैं। अगर कोई अल्पसंख्यक समुदाय से हैं तो लोग उससे दोस्ती करने से पहले दस बार सोचते हैं। सेंटर फॉर द स्टडी ऑफ डेवलपिंग (सीएसडीएस) की रिपोर्टं में खुलासा हुआ है कि अलग-अलग समुदायों के लोग दोस्ती के रिश्ते बनाते समय सबसे पहले अपने धार्मिक हित को देखते हैं।

      हिन्दू अपने ही बिरादरी में दोस्ती करते हैं। सर्वे के मुताबिक, 91 फीसदी हिंदुओं के नजदीकी दोस्त उनके अपने समुदाय के लोग ही होते हैं। 33 फीसदी लोग ही मुस्लिम समुदाय से दोस्ती करते हैं। 95 फीसदी मुस्लिम अपने ही समुदाय में दोस्ती करते हैं।

      सर्वे में पाया गया है कि हिंदुओं और मुस्लिमों में अधिकतर ने अपने ही समुदाय से नजदीकी दोस्त बनाये हैं। सीएसडीएस के अध्ययन में यह भी पाया गया है कि गुजरात, हरियाणा, कर्नाटक और ओडिशा में मुस्लिम समुदाय अलग रहना पसंद करते हैं।

        हिंदुओं में से 13 फीसदी मानते हैं कि मुस्लिम समुदाय के लोग बहुत देशभक्त होते हैं। वहीं, ईसाइयों के लिए यह आंकड़ा अलग है। 20 फीसदी हिंदू ईसाइयों को देशभक्त मानते हैं। सिखों के मामले में यह आंकड़ा 47 फीसदी का है।मुस्लिमों की मानें तो 77 फीसदी मुस्लिम अपने समुदाय के लोगों को बेहद देशभक्त मानते हैं। वहीं, 26 फीसदी ईसाई ऐसे हैं, जो मुस्लिमों में देशभक्ति की भावना देखते हैं।

सर्वे में गाय के सम्मान को लेकर सरकार के रुख, सार्वजनिक कार्यक्रमों में भारत माता की जय बोले जाने, बीफ खाने, राष्ट्रीय गान के वक्त खड़े होकर सम्मान दिये जाने आदि को लेकर किये गये सवालों पर भी अलग-अलग धर्मों के लोगों की राय ली गई है।

About Arun Kumar Singh

Check Also

लोकतंत्र के महापर्व यानि लोकसभा चुनाव 2019: दूसरे फेज की वोटिंग में करीब 66 फीसदी वोट पड़े Capture 14 298x165

लोकतंत्र के महापर्व यानि लोकसभा चुनाव 2019: दूसरे फेज की वोटिंग में करीब 66 फीसदी वोट पड़े

लोकतंत्र के महापर्व यानि लोकसभा चुनाव के लिए 18 अप्रैल को दूसरे चरण का मतदान …

Leave a Reply

Copyright © 2017, All Right Reversed.