Wednesday , June 20 2018 [ 3:45 PM ]
Breaking News
Home / अन्य / मुख्यमंत्री ने नवनिर्मित अत्याधुनिक आलमबाग बस टर्मिनल का लोकार्पण किया
[object object] मुख्यमंत्री ने नवनिर्मित अत्याधुनिक आलमबाग बस टर्मिनल का लोकार्पण किया 8 660x330

मुख्यमंत्री ने नवनिर्मित अत्याधुनिक आलमबाग बस टर्मिनल का लोकार्पण किया

 
     लखनऊ: 12 जून, 2018  उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने आज यहां नवनिर्मित अत्याधुनिक आलमबाग बस टर्मिनल का लोकार्पण किया। इस अवसर पर उन्होंने हरी झण्डी दिखाकर स्वामी नारायण मन्दिर छपिया, गोण्डा से अयोध्या होते हुए लखनऊ तक चलने वाली दो बसों तथा परिवहन विभाग के 40 नये प्रवर्तन वाहनों का शुभारम्भ भी किया। 
       [object object] मुख्यमंत्री ने नवनिर्मित अत्याधुनिक आलमबाग बस टर्मिनल का लोकार्पण किया 8 300x150ज्ञातव्य है कि लोकार्पित बस टर्मिनल का निर्माण पी0पी0पी0 पद्धति पर किया गया है। यह टर्मिनल एयरपोर्ट की तर्ज पर आधुनिक सुविधाओं यथा लगेज चेकिंग हेतु स्कैनर, तापमान सन्तुलन हेतु ऐटोमाइज़र, वेटिंग हाॅल, टाॅयलेट, शीतल पेयजल, फूडकोर्ट, बैंक, पोस्ट आॅफिस एवं ए0टी0एम0, लिफ्ट, अण्डरपास, एल0ई0डी0 डिस्प्ले बोर्ड आदि से सुसज्जित है। टर्मिनल पर 50 बसों की भूमिगत पार्किंग तथा 50 बसों हेतु प्लेटफाॅर्म की व्यवस्था है। टर्मिनल से लगभग 750 बसों का संचालन प्रारम्भ होगा। यात्रियों की सुविधा के लिए टर्मिनल को सीधे मेट्रो स्टेशन से भी जोड़ा गया है।
    इस अवसर पर अपने विचार व्यक्त करते हुए मुख्यमंत्री जी ने कहा कि विकास के लिए परिवहन की बेहतर सुविधा अत्यन्त आवश्यक है।  इससे परिवहन निगम एक लाभकारी उपक्रम के रूप में सामने आया है। विगत वर्ष परिवहन निगम को 122 करोड़ रुपये का शुद्ध लाभ हुआ है
    मुख्यमंत्री जी ने कहा कि राज्य सरकार ने सार्वजनिक परिवहन को बेहतर बनाया है। विगत वर्ष लखनऊ मेट्रो रेल का संचालन कराया गया है। यह बस टर्मिनल जनता को समर्पित किया गया है। प्रदेश में 01 लाख 20 हजार किलोमीटर सड़कों को गड्ढा मुक्त करने के उपरान्त नवीनीकरण कराया जा रहा है। जनपद मुख्यालयांे को 4-लेन तथा तहसील मुख्यालयों को 2-लेन सड़क मार्ग से जोड़ा जा रहा है। लखनऊ, गाजियाबाद, नोएडा में मेट्रो रेल का संचालन हो रहा है। कानपुर, आगरा, मेरठ में मेट्रो रेल का कार्य शीघ्र प्रारम्भ होगा। गोरखपुर, इलाहाबाद और झांसी में मेट्रो रेल की डी0पी0आर0 की कार्यवाही प्रचलित है।
मुख्यमंत्री जी ने घोषणा करते हुए कहा कि पी0पी0पी0 माॅडल पर परिवहन निगम 21 नये बस स्टेशनों का विकास कर रहा है। यह बस स्टेशन जनपद गाजियाबाद के  गाजियाबाद व कौशाम्बी, कानपुर सेण्ट्रल का झकरकटी, वाराणसी कैन्ट, इलाहाबाद के सिविल लाइन्स व जीरो रोड डिपो, लखनऊ के चारबाग व विभूति खण्ड (गोमती नगर), बरेली (सेटेलाइट), मेरठ के सोहराब गेट व भैसाली, आगरा के ट्रांसपोर्ट नगर, ईदगाह व आगरा फोर्ट, अलीगढ़ का रसूलाबाद, मथुरा, बुलन्दशहर, रायबरेली, फैजाबाद, गोरखपुर व गढ़मुक्तेश्वर हैं।
     मुख्यमंत्री जी ने कहा कि इसके अलावा परिवहन निगम 23 बस स्टेशनों के निर्माण का कार्य स्वंय कर रहा है। इन कार्याें में जनपद जालौन में उरई बस स्टेशन का पुनर्निर्माण, जनपद कुशीनगर (कसया) में बस स्टेशन का पुनर्निर्माण, जनपद कासगंज में डिपो कार्यशाला का नवनिर्माण, जनपद अलीगढ़ में बस स्टेशन मसूदाबाद का नवनिर्माण, जनपद बुलन्दशहर में डिबाई बस स्टेशन का नवनिर्माण, जनपद संत रविदास नगर में औराई बस स्टेशन का पुनर्निर्माण, जनपद अम्बेडकर नगर में टाण्डा बस स्टेशन व डिपो कार्यशाला का पुनर्निर्माण, जनपद गाजियाबाद के कौशाम्बी बस स्टेशन के यार्ड एवं शेड का निर्माण, जनपद संतकबीर नगर में मेंहदावल बस स्टेशन का पुनर्निर्माण शामिल है। Chief Minister inaugurates newly built state-of-the-art Alambagh Bus Terminal
     इसी प्रकार, जनपद कन्नौज में छिबरा मऊ बस स्टेशन का पुनर्निर्माण, जनपद मुजफ्फरनगर में पुरकाजी बस स्टेशन का जीर्णोद्धार, जनपद अलीगढ़ में अतरौली बस स्टेशन का जीर्णाेद्धार, जनपद पीलीभीत में बीसलपुर बस स्टेशन का जीर्णाेद्धार, जनपद फर्रुखाबाद में कायमगंज बस स्टेशन का जीर्णाेद्धार, जनपद हमीरपुर में बस स्टेशन व डिपो कार्यशाला राठ का पुनर्निर्माण, बस स्टेशन बलिया का उच्चीकरण, जनपद गोण्डा के मनकापुर में बस शेल्टर का निर्माण, जनपद औरैया के दिबियापुर में बस स्टेशन का निर्माण, जनपद मुरादाबाद के कांठ में बस स्टेशन का निर्माण, जनपद बस्ती के रुधौली में बस शेल्टर का निर्माण, जनपद हरदोई के सण्डीला में बस शेल्टर का निर्माण, जनपद बागपत में बस स्टेशन का निर्माण किया जाएगा।
      मुख्यमंत्री जी ने कहा कि वर्तमान सरकार के सत्ता मंे आने से पूर्व प्रदेश परिवहन की बसें पड़ोसी राज्यों में नहीं जाती थी। राज्य सरकार ने राजस्थान, उत्तराखण्ड, जम्मू और कश्मीर तथा हरियाणा आदि राज्यों के साथ एम0ओ0यू0 कर बसों का संचालन कराया है, जिससे प्रदेश परिवहन निगम का दायरा बढ़ा है। उन्होंने कहा कि रक्षा बन्धन के अवसर पर महिलाओं को परिवहन निगम के बसों में निःशुल्क यात्रा की सुविधा दी गई। 85 हजार महिलाओं ने इस सुविधा का उपभोग किया। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने दिव्यांगजन को परिवहन निगम की बसों में बस के गंतव्य स्थल तक निःशुल्क यात्रा की सुविधा उपलब्ध करायी, पूर्व में यह सुविधा प्रदेश की सीमा के अन्दर ही अनुमन्य थी।
मुख्यमंत्री जी ने कहा कि भविष्य में परिवहन निगम के समक्ष कई बड़ी चुनौतियां हैं। इनमें वर्ष 2019 में तीर्थराज प्रयाग में आयोजित होने वाला कुम्भ प्रमुख है। कुम्भ के दौरान निगम को जनता की सेवा के लिए पूरी जवाबदेही के साथ सुविधाएं मुहैया करानी पड़ेंगी। 
 
     कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए उप मुख्यमंत्री डाॅ0 दिनेश शर्मा ने कहा कि प्रदेश के समग्र विकास हेतु मुख्यमंत्री जी के नेतृत्व में तेजी से कार्य हो रहा है। इससे प्रदेश का स्वरूप बदल रहा है। परिवहन निगम द्वारा सड़क यातायात सुविधा को बढ़ाया जा रहा है। प्रदेश में 20 हवाई अड्डों के निर्माण का कार्य भी चल रहा है। इन सुविधाओं के विकास से प्रदेश की जनता को बड़ा लाभ होगा। 
      परिवहन राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) स्वतंत्र देव सिंह ने कहा कि वर्तमान राज्य सरकार गांव-गरीब की खुशहाली के लिए कार्य कर रही है। गरीबों को सुविधा, सुरक्षा व उनका कल्याण ही प्रदेश सरकार का लक्ष्य है। बस सेवा का अधिकतर इस्तेमाल गरीबों द्वारा किया जाता है।
      कार्यक्रम को पर्यटन मंत्री  रीता बहुगुणा जोशी ने भी सम्बोधित किया। परिवहन आयुक्त एवं प्रबन्ध निदेशक श्री पी0 गुरु प्रसाद ने अतिथियों का स्वागत किया। कार्यक्रम का शुभारम्भ मुख्यमंत्री जी द्वारा दीप प्रज्ज्वलित करके किया गया। 
        इस अवसर पर प्रदेश सरकार के मंत्रिगण श्री बृजेश पाठक, श्री आशुतोष टण्डन, डाॅ0 महेन्द्र सिहं, श्रीमती स्वाती सिंह, श्री बलदेव ओलख, लखनऊ की महापौर श्रीमती संयुक्ता भाटिया सहित जनप्रतिनिधिगण, स्वामी नारायण मन्दिर छपिया के प्रमुख स्वामी हरि स्वरूपानन्द जी महाराज, शासन-प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारीगण तथा बड़ी संख्या में नागरिक उपस्थित थे।

About Arun Kumar Singh

Check Also

[object object] जम्मू-कश्मीर में राज्यपाल शासन को राष्ट्रपति ने दी मंजूरी                                310x165

जम्मू-कश्मीर में राज्यपाल शासन को राष्ट्रपति ने दी मंजूरी

 आपात व्यवस्थाः जम्मू-कश्मीर में 40 साल में आठ बार राज्यपाल शासन        राज्यपाल …

Leave a Reply

Copyright © 2017, All Right Reversed.