Tuesday , October 23 2018 [ 8:45 AM ]
Breaking News
Home / राज्य / उत्तर प्रदेश / बिहार, गुजरात,कर्नाटक के बाद अब राजस्थान में चुनाव लड़ेगी सपा-समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय सचिव राजेन्द्र चौधरी 
[object object] बिहार, गुजरात,कर्नाटक के बाद अब राजस्थान में चुनाव लड़ेगी सपा-समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय सचिव राजेन्द्र चौधरी 

बिहार, गुजरात,कर्नाटक के बाद अब राजस्थान में चुनाव लड़ेगी सपा-समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय सचिव राजेन्द्र चौधरी 

     समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय सचिव राजेन्द्र चौधरी ने कहा है कि समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री अखिलेश यादव पार्टी संगठन को विस्तार और मजबूती देने के लिए दो स्तरों पर काम कर रहे हैं। एक ओर तो वे उत्तर प्रदेश में समाजवादी पार्टी को बूथ स्तर तक सक्रिय और सुदृढ़ करने के लिए प्रयत्नशील है तो दूसरी ओर अन्य प्रदेशो में भी संगठन का विस्तार करने पर विशेष ध्यान दे रहे हैं। इससे समाजवादी पार्टी को राष्ट्रीय पहचान मिलने में देर नहीं होगी। राष्ट्रीय राजनीति में वैसे समाजवादी पार्टी का प्रभावी हस्तक्षेप रहता है। और नीतियों के आधार पर वैचारिक राष्ट्रीय विकल्प है।
        श्री अखिलेश यादव के नेतृत्व में बिहार, गुजरात के अलावा कर्नाटक तथा उत्तराखण्ड में भी समाजवादी पार्टी पिछले दिनों चुनाव मैदान में उतरी थी। अब मध्य प्रदेश में विधानसभा की 230 सीटों पर चुनाव लड़ने की तैयारी है। श्री अखिलेश यादव 19 और 20 जुलाई 2018 को मध्य प्रदेश के दौरे पर रहेगेें। वे भोपाल में मध्य प्रदेश के कार्यकर्ताओं से बात करेगंे और विधानसभा चुनावों की रणनीति पर चर्चा होगी। छत्तीसगढ़ और झारखंड में भी होने वाले विधानसभा चुनावों में समाजवादी पार्टी के प्रत्याशी होगें।
       [object object] बिहार, गुजरात,कर्नाटक के बाद अब राजस्थान में चुनाव लड़ेगी सपा-समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय सचिव राजेन्द्र चौधरी                                 300x195  समाजवादी पार्टी के दक्षिण भारत से लेकर सुदूर अंडमान निकोबार द्वीप समूह तथा लेह तक विस्तार की योजना है। दक्षिण भारत में तमिलनाडु, आंध्र प्र्रदेश, तेलंगाना में पार्टी की शाखाएं है। महाराष्ट्र, राजस्थान, गुजरात में भी पार्टी के प्रति लोगों का रूझान बढ़ा है। राजनीतिक कार्यकर्ताओं का कहना है कि श्री अखिलेश यादव जी के बेदाग नेतृत्व से देश के किसान और  युवा प्रभावित है और वह समाजवादी पार्टी में सक्रिय होना चाहता है।
         समाजवादी पार्टी सिद्धांत की राजनीति करती है जबकि भाजपा समाज का बांटने का एजेण्डा है। अभी गोरखपुर, फूलपुर, कैराना और नूरपुर में भाजपा की हार से तय हो गया है कि क्षेत्रीय दल भाजपा को रोकने की ताकत रखते हैं। जनता अब समाजवादी पार्टी को ही भाजपा का विकल्प मानकर उसका राष्ट्रीय स्तर पर विस्तार चाहती है। इसे भाजपा अपने लिए चुनौती मानने  लगी है, तभी तो भाजपा और इसका पैतृक संगठन आर एस एस श्री अखिलेश यादव को बदनाम करने का षडयंत्र रचने में व्यस्त है।
                                         

About Arun Kumar Singh

Check Also

[object object] 68500 शिक्षक भर्ती : आंसर-की एक दिन देर से बुधवार को जारी होगी exam 310x165

68500 शिक्षक भर्ती : आंसर-की एक दिन देर से बुधवार को जारी होगी

    इलाहाबाद,वरिष्ठ संवाददाता, !परिषदीय प्राथमिक स्कूलों में 68500 सहायक अध्यापकों की भर्ती के लिए …

Leave a Reply

Copyright © 2017, All Right Reversed.