Wednesday , April 24 2019 [ 5:53 AM ]
Breaking News
Home / अन्य / तकनीकी शिक्षा के लिए विश्वविद्यालय को देना होगा ध्यान – आर.के उपाध्याय
[object object] तकनीकी शिक्षा के लिए विश्वविद्यालय को देना होगा ध्यान – आर.के उपाध्याय vc 660x330

तकनीकी शिक्षा के लिए विश्वविद्यालय को देना होगा ध्यान – आर.के उपाध्याय

तकनीकी शिक्षा गुणवत्ता उन्नयन कार्यक्रम के बोर्ड आफ गवर्नेंस की पहली बैठक     जौनपुर,अरुण सिंह। वीर बहादुर सिंह पूर्वांचल विश्वविद्यालय के कुलपति सभागार में मंगलवार को तकनीकी शिक्षा गुणवत्ता उन्नयन कार्यक्रम के बोर्ड आफ गवर्नेंस की पहली बैठक आयोजित की गई . बैठक में देश के विभिन्न भागों से आये सदस्यों ने तकनीकी शिक्षा के उन्नयन और गुणवत्ता के लिए विचार विमर्श किया।

बोर्ड आफ गवर्नेंस की बैठक बीएसएनल के पूर्व सीएमडी आर.के उपाध्याय की अध्यक्षता में हुई। उन्होंने कहा कि तकनीकी शिक्षा के विकास के लिए विश्वविद्यालय को वैश्विक स्तर पर हो रहे बदलावों को ध्यान में रखना होगा।

बैठक में कोलकाता के इमेरिटस प्रोफेसर प्रो. एलएन हाजरा, पीईएस मंडया कर्नाटक के प्रो. दिनेश प्रभु , आईएमएसएस बैंगलोर के सीनियर वाइस प्रेसिडेंट अनिमेश विसारिया, पूर्व आईएएस एवं सीइओ डीएसएलटीएस प्राइवेट लिमिटेड, गुड़गांव के शिवराज अस्थाना, सुरेश साई,समन्वयक टेकिप, प्रो. बी.बी तिवारी, प्रो. अशोक श्रीवास्तव,डॉ संतोष कुमार,डॉ. एस. पाल शामिल हुए।

बैठक में प्रो. ए.एन. हाजरा ने संस्थान और विश्वविद्यालय के उत्तरोत्तर प्रगति पर खुशी जताई। उन्होंने कहा कि विश्वविद्यालय गुणवत्तायुक्त तकनीकी शिक्षा दे रहा है। पूर्व आईएएस अधिकारी शिवराज अस्थाना ने अपने सम्बोधन में कहा कि आज के इस डिजिटल इंडिया के दौर में कैलिफोर्निया को आधार मानकर ट्रेनिंग दी जा रही है। इसी क्रम में अनिमेष विसारिया ने कहा कि समाज ने हमें पाल-पोस कर बड़ा किया है अतः हमारा भी दायित्व है कि हम भी समाज को वापस कुछ दें। मेंटर संस्था के प्रो. दिनेश प्रभु ने बीओजी की आवश्यकता पर प्रकाश डाला। कुलपति प्रो. डॉ राजाराम यादव ने विश्वविद्यालय की प्रगति से सदस्यों को अवगत कराया। बैठक में टेकिप के अन्तर्गत किए गए कार्यों पर विस्तृत चर्चा की गई।

कुलपति ने पुस्तक मेले का किया अवलोकन

        [object object] तकनीकी शिक्षा के लिए विश्वविद्यालय को देना होगा ध्यान – आर.के उपाध्याय vc 300x222जौनपुर। वीर बहादुर सिंह पूर्वांचल विश्वविद्यालय के विवेकानंद केंद्रीय पुस्तकालय के पुस्तक मेला के दूसरे दिन कुलपति ने स्टालोँ का अवलोकन  किया।
इस अवसर पर कुलपति प्रोफेसर डॉ. राजाराम यादव ने कहा कि व्यक्ति के ज्ञान के विकास में पुस्तकों की महत्वपूर्ण भूमिका होती है, ऐसे में हमारी कोशिश होगी कि अच्छे प्रकाशन की पुस्तकें पुस्तकालय में हो ताकि उसका लाभ विश्वविद्यालय के विद्यार्थियों को मिल सके। उन्होंने स्टालों पर अच्छी पुस्तकें देख कर मेले में आए प्रकाशक और मानद पुस्तकालय अध्यक्ष प्रोफेसर मानस पांडेय और डॉ  विद्युत मल्ल की सराहना की।  पुस्तक मेले में डी एस बुक्स, एस चांद, हिमालया पब्लिकेशन, सेज, ऑक्सफोर्ड, न्यू एज,, पीयरसन, स्प्रिंगर समेत तमाम प्रकाशन आए। प्रिंट के साथ ही साथ इ बुक और जर्नल के प्रकाशकों ने  भी भाग लिया।इस अवसर पर  प्रो अविनाश पाथर्डीकर, प्रो अजय प्रताप सिंह,डॉ मनोज मिश्र, डॉ दिग्विजय सिंह राठौर, डॉ सुनील कुमार, डॉ अवध  बिहारी सिंह अवधेश कुमार आदि शामिल थे।

About Kumar Addu

Check Also

लोकतंत्र के महापर्व यानि लोकसभा चुनाव 2019: दूसरे फेज की वोटिंग में करीब 66 फीसदी वोट पड़े Capture 14 298x165

लोकतंत्र के महापर्व यानि लोकसभा चुनाव 2019: दूसरे फेज की वोटिंग में करीब 66 फीसदी वोट पड़े

लोकतंत्र के महापर्व यानि लोकसभा चुनाव के लिए 18 अप्रैल को दूसरे चरण का मतदान …

Leave a Reply

Copyright © 2017, All Right Reversed.