Wednesday , August 22 2018 [ 1:01 PM ]
Breaking News
Home / अन्य / अमर क्रांन्तिवीर गुरुदासराम अग्रवाल बलिदान दिवस(27 मई1931) विशेष !

अमर क्रांन्तिवीर गुरुदासराम अग्रवाल बलिदान दिवस(27 मई1931) विशेष !

      जब अंग्रेजो ने लाजपतराय जी की साण्डर्स ने हत्या की तो उन्होंने संकल्प लिया कि लालाजी के हत्यारों को सबक सिखाने का लेकिन एक माह बाद ही चन्द्रशेखर आज़ाद, भगतसिंह, राजगुरु और सुखदेव ने साण्डर्स का वध कर हत्या का बदला ले लिया तो उनका संकल्प अधूरा रह गया।
      गुरुदासराम का जन्म 14 जुलाई1914 को जीरा ,फ़िरोजपुर जिले में हुवा था।बचपन मे उन्हें पता चला कि जलियांवाला बाग हत्याकांड में कई लोगो को अंग्रेजों ने मारा था तो उनके मन मे आक्रोश उत्पन्न हुवा।आगे चल कर जब पंजाब केसरी लाला लाजपतराय जी की साण्डर्स ने हत्या की तो उन्होंने संकल्प लिया कि लालाजी के हत्यारों को सबक सिखाने का लेकिन एक माह बाद ही चन्द्रशेखर आज़ाद, भगतसिंह, राजगुरु और सुखदेव ने साण्डर्स का वध कर हत्या का बदला ले लिया तो उनका संकल्प अधूरा रह गया।

     फिर भी गुरुदासराम अग्रवाल कोई साहसिक कार्य करना चाहते थे ताकि अंग्रेज घबराकर भारत से चले जाएं।
31 अक्टूबर1930 को जीरा जेल में पुलिस अधिकारियों की एक बैठक थी और गुरुदासराम अग्रवाल और उनके साथियों ने उस बैठक में बम विस्फोट किया फलस्वरूप कई पुलिस अधिकारी हताहत हुवे।
 (मेरे तमाम प्रयासों के बावजूद शहीद गुरुदासराम की फोटो की उपलब्धता नही हो सकी)

राम को अन्य साथियों के नाम जानने के लिए कठोरतम यातनाएं दी।उन्हें कोड़ो से मारा।कोड़ो की मार से चमड़ी के रेशे हवा में उड़ने लगे।शरीर से जगह जगह से खून बहने लगा उनको अमानवीय यातनाएं दी गयी उंसके बाद भी उन्होंने अपना मुंह नही खोला।
बताते है कि पुलिस ने उनके भोजन में कुछ ऐसे तत्व मिला दिए कि वह अंतिम अवस्था मे पहुचे।27 मई1931 को यह 18 वर्षीय क्रांन्तिवीर भारत की स्वतंत्रता के लिए बलिदान हो गए।

ऐसे वीर सपूत को बारम्बार परनाम है ! कोटिशः नमन !
          जय हिन्द !नमन।वन्देमातरम।

Amar Krantiveer Gurudasram Agarwal sacrifice day (27 May 1931) Special!

About Arun Kumar Singh

Check Also

[object object] हर वर्ष विभाजन की टीसें छोड़ जाता है स्वतन्त्रता दिवस              310x165

हर वर्ष विभाजन की टीसें छोड़ जाता है स्वतन्त्रता दिवस

      मानचित्र में जो दिखता है नहीं देश भारत है। भू पर नहीं …

Leave a Reply

Copyright © 2017, All Right Reversed.