Saturday , July 20 2019 [ 6:44 AM ]
Breaking News
Home / अन्य / क्या है किन्नरों का महापर्व कूवअगम, क्या है इसकी खासियत
[object object] क्या है किन्नरों का महापर्व कूवअगम, क्या है इसकी खासियत Kinnar Photo 570x330

क्या है किन्नरों का महापर्व कूवअगम, क्या है इसकी खासियत

   चेन्नै 
     तमिलनाडु में हर साल होने वाला कूवअगम फेस्टिवल समाप्त हो गया है। 18 दिनों तक चलने वाले इस फेस्टिवल को किन्नरों का महापर्व भी कहा जाता है।

     [object object] क्या है किन्नरों का महापर्व कूवअगम, क्या है इसकी खासियत Kinnar Photo 300x193इस मौके पर देश भर के किन्न एकत्र होते हैं। इस आयोजन में कई तरह के इवेंट्स भी होते हैं। यहां मिस कूवअगम ब्यूटी कॉन्टेस्ट का आयोजन होता है और महाभारत में भगवान कृष्ण के मोहिनी रूप की लीला भी यहां दिखाई जाती है।

  [object object] क्या है किन्नरों का महापर्व कूवअगम, क्या है इसकी खासियत Capture 1 300x185 कूथनदावर मंदिर में किन्नरों ने भगवान श्रीकृष्ण के मोहिनी रूप का प्रदर्शन किया और अर्जुन के बेटे अरावन से विवाह का प्रसंग दिखाया गया। कथा के अनुसार पांडवों और कौरवों के बीच युद्ध के दौरान देवी काली ने अरावन का वध कर दिया था और वह विधवा हो गई थी। इस कार्यक्रम में किन्नर भी सफेद साड़ी पहनते हैं और कार्यक्रम के अंत में चूड़ियां तोड़ते हैं। इस साल चेन्नै के किन्नर मोबिना ने मिस कूवअगम ब्यूटी कॉन्टेस्ट में जीत हासिल की। चेन्नै की ही प्रीति ने प्रतियोगिता में दूसरा और इरोड की शुभाश्री ने तीसरा स्थान पाया। What is the Maha Parva Kovagam of Kiners, what is its specialty

   बुधवार को समाप्त हुए 18 दिनों के इस किन्नर महापर्व में कूथनदावर मंदिर के पुजारी चूड़ियां तोड़ते हैं और इस तरह किन्नर प्रतीकात्मक रूप से विधवा कहलाने लगते हैं। सोमवार को मिस कूवअगम ब्यूटी कॉन्टेस्ट में हिस्सा लेने के बाद सभी किन्रर करीब 30 किलोमीटर का सफर तय करके मंगलवार को मुख्य कार्यक्रम के लिए कूवअगम गांव पहुंचे थे।
   तमिलनाडु के विल्लुपुरम जिले के कूवअगम गांव में होने वाला यह फेस्टिवल हर साल आयोजित होता है। यह कूथनदावर मंदिर में होता है, जो अर्जुन के पुत्र अरावन को समर्पित है। इस मौके पर देश भर से हजारों किन्नर कूवअगम में भगवान कूथनदावर से विवाह करने के लिए जुटते हैं। यह परंपरा यहां सदियों से चली आ रही है। 

About Arun Kumar Singh

Check Also

छह प्रधानमंत्रियों के साथ काम कर चुके एक मंझे हुए राजनेता हैं रामविलास पासवान Capture 21 310x165

छह प्रधानमंत्रियों के साथ काम कर चुके एक मंझे हुए राजनेता हैं रामविलास पासवान

रामविलास पासवान के राजनीतिक सफर की शुरुआत 1960 के दशक में बिहार विधानसभा के सदस्य …

Leave a Reply

Copyright © 2017, All Right Reversed.