Wednesday , April 24 2019 [ 5:53 AM ]
Breaking News
Home / अन्य / 25 खाकी वर्दी पर लगा बेजुबानों के कत्ल का दाग!
[object object] 25 खाकी वर्दी पर लगा बेजुबानों के कत्ल का दाग! cow 604x330

25 खाकी वर्दी पर लगा बेजुबानों के कत्ल का दाग!

    यूपी की भगवा सरकार जिस खाकी के बलबूते प्रतिबंधित पशुओं की तस्करी और उनके वध को रोकने का सपना देख रही है। उसी खाकी के हाथ  इस इस अवैध कारोबार की दलाली में लाल हो गए है।
एसटीएफ प्रयागराज विंग ,की जांच में खुलासा फतेहपुर, कौशाम्बी, जौनपुर, चंदौली में हड़कम्प
    [object object] 25 खाकी वर्दी पर लगा बेजुबानों के कत्ल का दाग! cow 300x169  फतेहपुर.धर्मेन्द्र भारती । यूपी की भगवा सरकार जिस खाकी के बलबूते प्रतिबंधित पशुओं की तस्करी और उनके वध को रोकने का सपना देख रही है। उसी खाकी के हाथ  इस इस अवैध कारोबार की दलाली में लाल हो गए है। यह सनसनीखेज खुलासा प्रयागराज की एसटीएफ विंग की जांच में हुवा है और इस जांच के बाद जिले से लेकर लखनऊ तक पुलिस महकमे में हड़कम मच गया है।
         प्रयागराज के साथ ही फतेहपुर, कौशाम्बी, जौनपुर, गाजीपुर, चंदौली जिले के करीब 25 पुलिस कर्मियों को चिन्हित किया गया है। इसमें इंस्पेक्टर रैंक से लेकर थाने के सिपाही तक शामिल है। कुछ अफसरों के ड्राइवर भी इसमें शामिल किए गए है।
   गौरतलब है कि करीब 26 दिन पहले प्रयागराज में एसटीएफ ने प्रतिबंधित मवेशी के मांस से भरी गाड़ी पकड़ी थी। इसमे कौशाम्बी के एक माफिया तस्कर सहित पांच लोग गिरफ्तार हुए थे। इनको धूमनगंज कोतवाली से जेल भेजा गया था। सूत्रों की माने तो एसटीएफ ने आरोपियों से पूछताछ के बाद इस रैकेट की जांच शुरू की तो उनके होश उड़ गए। पता चला कि कई जिले की पुलिस के संरक्षण में यह कारोबार चल रहा है। विंग ने इन सबके खिलाफ सबूत जमा किए है। सर्चिंग आईज हिंदी दैनिक में छपी खबरों के अनुसार  फतेहपुर के खागा, ललौली, थरियांव, कौशाम्बी के सैनी, कोखराज, पूरामुफ्ती थाना पुलिस इसमे लिप्त है। इसी तरह से प्रयागराज, गाजीपुर, चंदौली में हाइवे के थाने इसको संरक्षण दे रहे है।
[object object] 25 खाकी वर्दी पर लगा बेजुबानों के कत्ल का दाग! baffalo 300x230 गाड़ी पास कराने के नाम पर मालामाल खाकी
           जांच में जिलों की पुलिस पर जो आरोप है     वह गाड़ियों को पास कराने के नाम पर है। गाड़ियों में प्रतिबंधित मवेशी और उनके मांस को पुलिस नजरअंदाज करती है और गाड़ी सुरक्षित अपने ठिकाने पर पहुँच जाती है। तस्कर पुलिस को हर 15 दिन में भारी रकम पेमेंट करते है। जिससे किसी का तबादला होने पर उनकी रकम पूरी न फंसे।
ट्रांसफर का सबसे पहले होगा प्रयास
👉 [object object] 25 खाकी वर्दी पर लगा बेजुबानों के कत्ल का दाग! 1f449वर्षो से हाइवे पर तैनाती पर फंसेंगे अफसर
         जिले के अफसरों पर भी इस जांच की जरूर पहुचेंगी। फतेहपुर जिले खागा, थरियांव, ललौली सहित हाइवे के थाने व चौकियों पर कुछ ऐसे सिपाही तैनात है जो कई साल से वही पर है। अगर उन्हें हटाया भी गया तो वह कुछ दिन बाद फिर से रोड के थाने या चौकी पर आ गए। अफसरों का यह शिथिल पर्यवेक्षण उनके लिए मुसीबत बनेगा।
👉 [object object] 25 खाकी वर्दी पर लगा बेजुबानों के कत्ल का दाग! 1f449जांच की आग प्रयागराज से लेकर सभी जनपदों में पहुँच रही है। ऐसे में इस अवैध कारोबार की दलाली में लगे कर्मचारी अपनी नौकरी और गर्दन बचाने के लिए सबसे पहले अपना स्थान्तरण कराने का प्रयास करेंगे। जिससे उन्हें कम से कम नुकसान हो। मगर उनका यह प्रयास नाकाफी होगा। क्योंकि उनके खिलाफ सबूत जमा किया जा चुका है।

About Kumar Addu

Check Also

लोकतंत्र के महापर्व यानि लोकसभा चुनाव 2019: दूसरे फेज की वोटिंग में करीब 66 फीसदी वोट पड़े Capture 14 298x165

लोकतंत्र के महापर्व यानि लोकसभा चुनाव 2019: दूसरे फेज की वोटिंग में करीब 66 फीसदी वोट पड़े

लोकतंत्र के महापर्व यानि लोकसभा चुनाव के लिए 18 अप्रैल को दूसरे चरण का मतदान …

Leave a Reply

Copyright © 2017, All Right Reversed.