Monday , April 22 2019 [ 9:36 AM ]
Breaking News
Home / अन्य / 1984 सिख विरोधी दंगा मामला!बड़े शर्म की बात है सलमान खुर्शीद सजा के खिलाफ करेंगे अपील
1984 सिख विरोधी दंगा मामला!बड़े शर्म की बात है सलमान खुर्शीद सजा के खिलाफ करेंगे अपील           660x330

1984 सिख विरोधी दंगा मामला!बड़े शर्म की बात है सलमान खुर्शीद सजा के खिलाफ करेंगे अपील

नई दिल्ली: सोमवार का दिन कांग्रेस के लिए कहीं खुशी तो कहीं गम जैसा रहा। हिंदी हार्टलैंड के तीन राज्यों में दो राज्यों राजस्थान और मध्यप्रदेश में उनके सीएम पद के चेहरों ने शपथ ली। राजस्थान के सीएम पद पर जिस वक्त अशोक गहलोत शपथ लेने जा रहे थे ठीक उसी वक्त दिल्ली हाईकोर्ट ने 1984 सिख विरोधी दंगा मामले में सजा का ऐलान किया।

 1984 सिख विरोधी दंगा मामला!बड़े शर्म की बात है सलमान खुर्शीद सजा के खिलाफ करेंगे अपील           300x200   बता दें कि पंजाब के सीएम अमरिंदर सिंह ने कहा कि सज्जन कुमार को सजा मिली है उससे पीड़ितों को न्याय मिला है। पीड़ित परिवारों को एक लंबे इंतजार के बाद उनके जख्मों पर मरहम लगा। लेकिन इस संबंध में अकाली दल और बादल परिवार राजनीति कर रहे हैं। 1984 सिख विरोधी दंगों में न तो कांग्रेस की भूमिका थी और न ही गांधी परिवार किसी रूप से उस दुखद हादसे से जुड़ा हुआ था। 

अदालत ने ये माना कि दंगों के समय कांग्रेस नेता सज्जन कुमार की भूमिका बेहद स्पष्ट थी। अदालत के सामने कोई वजह नहीं है कि सज्जन कुमार को लोअर कोर्ट से मिली राहत को बरकरार रखा जाए। अदालत ने इस टिप्पणी के साथ सज्जन कुमार को उम्रकैद की सजा सुना दी। इसके साथ ही ये मांग उठने लगी कि कांग्रेस को मध्य प्रदेश के सीएम के तौर पर कमलनाथ को शपथ दिलाने से रोका जाए। इस बीच अब सियासत शुरू हो चुकी है।

   मध्य प्रदेश में कमलनाथ के शपथ ग्रहण समारोह में आप नेता और दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल के शामिल होने का कार्यक्रम था। लेकिन ऐन वक्त पर केजरीवाल और राज्यसभा सांसद संजय सिंह शपथ ग्रहण में शामिल नहीं हुए। इन सबके बीच आम आदमी पार्टी के नेता जरनैल सिंह ने कहा कि हमें ये जानकारी मिली है कि कांग्रेस की तरफ से सलमान खुर्शीद सज्जन कुमार को मिली सजा के खिलाफ अपील करेंगे। ये बड़े शर्म की बात है कि सज्जन कुमार को पार्टी से निकालने की जगह वो उनको मिली सजा के खिलाफ अपील करने की बात कर रहे हैं।

About Arun Kumar Singh

Check Also

लोकतंत्र के महापर्व यानि लोकसभा चुनाव 2019: दूसरे फेज की वोटिंग में करीब 66 फीसदी वोट पड़े Capture 14 298x165

लोकतंत्र के महापर्व यानि लोकसभा चुनाव 2019: दूसरे फेज की वोटिंग में करीब 66 फीसदी वोट पड़े

लोकतंत्र के महापर्व यानि लोकसभा चुनाव के लिए 18 अप्रैल को दूसरे चरण का मतदान …

Leave a Reply

Copyright © 2017, All Right Reversed.